NDTV Khabar

बाल-बाल बचीं हॉस्टल की 50 लड़कियां, वरना हो सकता था सूरत जैसा हादसा

पश्चिमी दिल्ली में जनकपुरी मेट्रो स्टेशन के समीप एक हॉस्टल में बुधवार तड़के आग लग गई लेकिन गनीमत यह रही कि उसमें रहने वाली 50 लड़कियां बाल-बाल बच गईं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बाल-बाल बचीं हॉस्टल की 50 लड़कियां, वरना हो सकता था सूरत जैसा हादसा

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

पश्चिमी दिल्ली में जनकपुरी मेट्रो स्टेशन के समीप एक हॉस्टल में बुधवार तड़के आग लग गई लेकिन गनीमत यह रही कि उसमें रहने वाली 50 लड़कियां बाल-बाल बच गईं. मुख्य दमकल अधिकारी अतुल गर्ग ने बताया कि छह लड़कियों को धुएं के कारण दम घुटने से हुई दिक्कत के कारण नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया और बाद में उन्हें छुट्टी दे दी गई. पुलिस ने बताया कि हालांकि घटना में कोई घायल नहीं हुआ. 

कुछ अवसरवादी बीजेपी में जाते हैं तो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता: तृणमूल कांग्रेस

एक दमकल अधिकारी ने बताया कि हॉस्टल के बेसमेंट में एक इलेक्ट्रिक पैनल में आग लग गई और आग पर तड़के साढ़े तीन बजे तक काबू पाया गया. दमकल विभाग ने बताया कि उन्हें आग लगने के बारे में सुबह तीन बजे सूचना मिली जिसके बाद उन्होंने दमकल की चार गाड़ियों को घटनास्थल पर भेजा. जनकपुरी पुलिस थाने को तड़के करीब तीन बजकर पांच मिनट पर आग लगने की सूचना दी गई. 

पुलिस ने बताया कि घटनास्थल पर पहुंचने पर यह पाया गया कि कावेरी हॉस्टल के भूतल पर आग लगी. सभी लड़कियों को पहले ही हॉस्टल इमारत से बाहर निकाल लिया गया. पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) मोनिका भारद्वाज ने बताया कि घटना के समय ज्यादातर लड़कियां सो रही थीं. बेसमेंट में लगी आग का धुआं अन्य मंजिलों तक पहुंच गया. 


आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में आज शपथ लेंगे जगनमोहन रेड्डी, कर सकते हैं कुछ महत्वपूर्ण घोषणाएं

टिप्पणियां

एक दमकल अधिकारी ने बताया कि एक लड़की पहली मंजिल की खिड़की से कूद गई और गार्ड के कमरे में पहुंच गई. खिड़की की ऊंचाई ज्यादा नहीं थी इसलिए उसे कोई गंभीर चोट नहीं आयी. 

(इनपुट भाषा से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement