NDTV Khabar

CM अरविंद केजरीवाल ने बस में की यात्रा, महिलाओं के लिए फ्री यात्रा योजना का लिया फीडबैक 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने महिलाओं के लिए बसों में फ्री यात्रा योजना का फीडबैक लेने के लिए बस में सफर किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. अरविंद केजरीवाल ने की बस में यात्रा
  2. महिलाओं से मुफ्त यात्रा योजना का फीडबैक लिया
  3. कहा, योजना से महिलाएं बहुत खुश हैं
नई दिल्ली :

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने महिलाओं के लिए बसों में फ्री यात्रा योजना का फीडबैक लेने के लिए बस में सफर किया. उन्होंने कहा कि फ्री बस यात्रा योजना से महिला यात्री बहुत खुश हैं. केजरीवाल ने कहा, 'महिलाओं से सीधा फीडबैक लेने के लिए मैंने कुछ बसों में सफर किया. छात्राओं, कामकाजी महिलाओं के अलावा मैं कुछ ऐसी महिलाओं से भी मिला जिनको नियमित रूप से डॉक्टर के यहां जाना होता है. सब बहुत खुश हैं.' सरकार की इस योजना से महिलाओं को बहुत राहत मिलेगी. इससे पहले एनडीटीवी से खास बातचीत में अरविंद केजरीवाल ने कहा, मेरा मकसद जनता के लिए काम करना है. महिलाओं की मुफ़्त बस यात्रा योजना पर केजरीवाल ने कहा कि इस कदम से सभी महिलाओं को फायदा हो रहा है तो फिर विपक्ष विरोध क्यों कर रहा है? 

इस बार विधानसभा चुनाव में कितनी सीटें जीत रहे हैं? इस सवाल पर केजरीवाल बोले- जनता खुश है तो...


उन्होंने कहा कि मेरी योजनाओं से जनता को फायदा हो रहा है. पहले जो पैसा भ्रष्टाचार में चला जाता था, अब वह जनता के काम में लग रहा है. जनता के टैक्स के पैसे बचा रहा हूं और जनता को ही दे रहा हूं. साथ ही सीएम केजरीवाल ने कहा, दोबारा सरकार बनेगी तो बुजुर्ग और छात्रों को भी इसका फायदा देंगे. मेट्रो में इस योजना को लागू करने में समय लग रहा है. बता दें, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में महिलाओं के लिए यह सुविधा भाईदूज के दिन मंगलवार से शुरू हो गई. मंगलवार को मुख्यमंत्री ने अपने मोबाइल एप ‘एके ऐप' में कहा कि यह योजना समाज में लैंगिक भेदभाव को दूर कर महिला सशक्तिकरण में मदद पहुंचाएगी और यह भाईदूज पर उनके भाई की ओर से उन्हें एक सौगात है. 

टिप्पणियां

महिला के बाद अब बुजुर्गों और छात्रों के लिए भी फ्री हो सकता है DTC का सफर, CM केजरीवाल कर...

केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा, ‘आवागमन का साधन मंहगा होने कारण स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई बीच में छोड़ने वाली लड़कियों और महिलाओं को अब ऐसा करने की जरूरत नहीं है. अब वे अपने घरों से दूर स्कूल और कॉलेज आने-जाने के लिए बसों में (नि:शुल्क) सफर कर सकती हैं. इसी तरह से, जिन महिलाओं के दफ्तर दूर हैं उन्हें परिवहन पर आने वाले खर्च की चिंता करने की जरूरत नहीं है.'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement