अरविंद केजरीवाल का बड़ा ऐलान: मेट्रो, DTC और क्लस्टर बसों में मुफ्त सफर कर सकेंगी महिलाएं

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कांफ्रेंस कर दिल्ली की महिलाओं को तोहफा दिया है. जल्द ही दिल्ली में महिलाएं डीटीसी, क्लस्टर बसों और मेट्रो में मुफ्त सफर कर सकेंगी.

नई दिल्ली:

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कांफ्रेंस कर दिल्ली की महिलाओं को तोहफा दिया है. जल्द ही दिल्ली में महिलाएं डीटीसी, क्लस्टर बसों और मेट्रो में मुफ्त सफर कर सकेंगी. केजरीवाल ने मीडिया को बताया कि जो महिला आर्थिक तौर पर सक्षम हैं, वह टिकट खरीद लें, जिससे सब्सिडी पर बोझ ना पड़े. अफसरों को निर्देश दिया है कि इस बारे में प्रस्ताव बनाकर लाएं की बसों और मेट्रो में इसको कैसे लागू करें.

बर्बादी की कगार पर फर्रुखाबाद बसाने वाले नवाब बंगश का मकबरा, वारिस जी रहे मुफलिसी की जिंदगी

उन्होंने आगे कहा कि इसी महीने 8 जून से सीसीटीवी कैमरा लगने शुरू होंगे और दिसंबर तक सारे CCTV लग जाएंगे. दिल्ली में लगभग 2,80,000 सीसीटीवी लगेंगे. इसके अलावा सीएम केजरीवाल ने कहा, सरकारी स्कूलों के अंदर अलग से डेढ़ लाख सीसीटीवी लग रहे हैं और कुछ अभी लगने शुरू हो गए हैं. इसके साथ केजरीवाल ने कहा, यदि जनता सुझाव देना चाहती है तो दे सकती है.

VHP की शोभा यात्रा में लड़कियों ने हवा में की फायरिंग और खुलेआम लहराई तलवार, 200 से ज्यादा के खिलाफ FIR

केजरीवाल ने कहा, ''इसमें केंद्र सरकार की इजाज़त की ज़रूरत नहीं है. डीटीसी बसों में मार्शल लगे हैं, क्लस्टर में भी लगाएंगे. डीटीसी और क्लस्टर को मिलाकर करीब 5500 बसें चलेंगी. अभी बसों और मेट्रो में 30-33% यात्री महिलाएं यात्रा कर रही हैं.''

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में महिलाओं के सफर में छूट देने को लेकर संकेत शनिवार को नयी दिल्ली में एक जनसभा की थी. जिसमें उन्होंने कहा था कि सरकार डीटीसी बसों और दिल्ली मेट्रो में महिलाओं को किराये से छूट देने पर विचार कर रही है ताकि उनकी सुरक्षा के मद्देनजर उन्हें सार्वजनिक परिवहन के इस्तेमाल के लिए प्रोत्साहित किया जा सके.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

दरअसल, दिल्ली मेट्रो रेल निगम में केंद्र और दिल्ली सरकार 50:50 के अशंधारक साझेदार हैं. मुख्यमंत्री ने यह भी दावा किया कि दिल्ली सरकार से परामर्श किए बगैर दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) ने पिछले साल विद्युत शुल्क का ‘फिक्स्ड चार्ज' बढ़ा दिया था.