मनीष सिसोदिया ने LG और अमित शाह को लिखी चिट्ठी- दिल्ली में होम आइसोलेशन का पुराना सिस्टम बहाल करें

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली में होम आइसोलेशन की पुरानी व्यवस्था बहाल करने को लेकर उपराज्यपाल अनिल बैजल और गृहमंत्री अमित शाह को चिट्ठी लिखी है. सिसोदिया ने कहा कि होम आइसोलेशन की व्यवस्था खत्म करने के चलते राज्य और मरीजों के सामने कई तरह की समस्याएं सामने आएंगी.

मनीष सिसोदिया ने LG और अमित शाह को लिखी चिट्ठी- दिल्ली में होम आइसोलेशन का पुराना सिस्टम बहाल करें

सिसोदिया ने दिल्ली में होम आइसोलेशन के पुराने सिस्टम की बहाली की मांग की. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • दिल्ली में होम आइसोलेशन के पुराने सिस्टम के बहाली की मांग
  • सिसोदिया ने LG और अमित शाह को लिखी चिट्ठी
  • कहा- नई व्यवस्था से किसी को फायदा नहीं
नई दिल्ली:

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को जानकारी दी कि उन्होंने दिल्ली में होम आइसोलेशन की पुरानी व्यवस्था बहाल करने को लेकर उपराज्यपाल अनिल बैजल और गृहमंत्री अमित शाह को चिट्ठी लिखी है. मनीष सिसोदिया ने कहा कि होम आइसोलेशन की व्यवस्था खत्म करने के चलते राज्य और मरीजों के सामने कई तरह की समस्याएं सामने आएंगी. सिसोदिया ने मंगलवार को इस संबंध में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की थी, जिसमें उन्होंने मीडिया के सामने इस नए आदेश के चलते आ रही समस्याओं का जिक्र किया था.

सिसोदिया ने राज्यपाल को भेजी गई चिट्ठी में लिखा है, 'आपके निर्देश पर पिछले हफ्ते से लागू इस व्यवस्था के अनुसार पहले संक्रमित पाए जाने वाले मरीज को क्वारंटीन सेंटर ले जाया जाएगा. वहां उसकी बीमारी के लक्षणों की जांच होगी और फिर तय होगा कि उसे होम आइसोलेशन में भेजा जाए या नहीं. इससे मरीजों की जिंदगी बेहाल हो जाएगी. किसी को पता चलेगा कि उसे कोरोना है, तो उसके सामने संकट खड़ा होगा कि वह क्वारंटीन सेंटर कैसे जाए और अगर होम आइसोलेशन के लिए उचित पाया जाता है, तो घर लौटकर कैसे आए.'

दिल्ली में हर दिन आ रहे करीब 3000 नए मामलों का हवाला देते हुए मनीष सिसोदिया ने कहा है कि इतने लोगों क्वारन्टीन सेंटर ले जाने के लिए एंबुलेंस कहां से आएंगी. साथ ही टेस्टिंग, ट्रैकिंग और कंटेनमेंट में पहले से ही अपनी क्षमता से कहीं अधिक वर्क लोड के साथ काम कर रहे जिला प्रशासन और स्वास्थ्य टीमों के लिए यह काम नामुमकिन होगा. इससे सेंटर पर जांच कराने के लिए भी लंबी लाइनें लगेंगीं.

'नई व्यवस्था से किसी को फायदा नहीं'

मनीष सिसोदिया ने कहा कि इस नई व्यवस्था से किसी का फायदा नहीं है. उन्होंने कहा, 'अभी तक मौजूदा व्यवस्था में एक कोरोना संक्रमित पाए जाने पर सरकारी डॉक्टर की टीम मरीज के घर जाकर जांच करती थी और फिर उसे फोन पर सलाह दिया जाता था. यह व्यवस्था शानदार चल रही थी और मैं फीडबैक के आधार पर कहना चाहता हूं कि नई व्यवस्था ने लोगों के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है. इसलिए अनुरोध है कि तुरंत राज्य आपदा प्रबंधन ऑथोरिटी की बैठक बुलाकर इस व्यवस्था को बदलें नहीं तो यह नई व्यवस्था अव्यवस्था का कारण बन सकती है.'

सिसोदिया ने गृहमंत्री अमित शाह को अलग चिट्ठी लिखते हुए उनसे मामले में दखल की मांग की. उन्होंने कहा कि 'मैंने उप राज्यपाल महोदय को भी इस समस्या से अवगत कराते हुए पत्र लिखा है. मेरा आपसे अनुरोध है कि जिस तरह आपने मरीजों को 5 दिन के आवश्यक क्वारन्टीन सेंटर भेजे जाने के मामले में सकारात्मक दखल देकर उसका समाधान निकाला था, उसी तरह उप राज्यपाल महोदय को निर्देश देकर इस व्यवस्था को भी खत्म कराएं, नहीं तो थोड़े दिन में ही यह व्यवस्था बड़ी अव्यवस्था का कारण बन सकती है.'


Video:दिल्ली में होम आइसोलेशन में व्यवस्था बदलने से दिक्कत बढ़ी : सिसोदिया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com