सरेआम कत्‍ल देखती दिल्‍ली : राजधानी में लड़कियों को पुलिस पर नहीं है भरोसा

सरेआम कत्‍ल देखती दिल्‍ली : राजधानी में लड़कियों को पुलिस पर नहीं है भरोसा

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

नई दिल्‍ली:

मंगलवार को दिन दहाड़े दिल्ली में एक शख़्स ने एक 21 साल की लड़की की एक धारधार हथियार से हत्या कर दी. पुलिस का कहना है कि आरोपी लंबे वक़्त से पीड़िता का पीछा किया करता था. दिल्ली की लड़कियों का कहना है किसी के द्वारा पीछा किये जाने पर या तो वे पेपर स्प्रे यूज़ करेंगीं, या किसी सेफ जगह चली जाएंगी या फ़िर अपने माता पिता को बताएंगी.

पुलिस से मदद मांगना लगभग किसी भी लड़की का विकल्प नहीं होता. लड़कियों को डर है कि पुलिस उनका मज़ाक उड़ाएगी, उनकी बात को संजीदगी से नहीं लेगी, उनसे गैर ज़रूरी सवाल पूछेगी, उन्हें ही रात में घर से बाहर निकलने और उनके कपड़ों पर ताने देगी. लड़कियां स्टॉकिंग की शिकायत दर्ज़ कर सकें, इसके लिए दिल्ली पुलिस की हेल्पलाइन तो है.

लेकिन हेल्पलाइन पर कॉल करने से मदद मिलने में कितना वक़्त लगेगा इसका समय तय नहीं है. कई लड़कियों का कहना है कि ये हेल्पलाइन तो होल्ड पे ही रहती है. दिल्ली को महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाने के लिए दिल्ली पुलिस दावे तो कई सारे करती आ रही है. कई हेल्पलाइन नंबर लॉन्च किये गये हैं और कई मोबाइल एप्लीकेशन भी. लेकिन फिर भी दिल्ली पुलिस दिल्ली की बेटियों के मन में यह भरोसा नहीं पैदा कर पायी है जिसके चलते मुसीबत के वक़्त ये लड़कियां पुलिस से मदद मांगें जब उन्हें उस मदद की सबसे ज़्यादा ज़रूरत होती हो.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com