NDTV Khabar

दिल्ली सरकार ने गर्मी की वजह से बढ़ाई छुट्टी, आठ जुलाई से खुलेंगे स्कूल

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में गर्मी को देखते हुए, कक्षा आठवीं तक के छात्रों के लिए गर्मी की छुट्टी आठ जुलाई तक बढ़ाने के फैसला किया गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली सरकार ने गर्मी की वजह से बढ़ाई छुट्टी, आठ जुलाई से खुलेंगे स्कूल

दिल्ली सरकार ने स्कूलों में बढ़ाई गर्मी की छुट्टी

नई दिल्ली:

राजधानी दिल्ली में बढ़ती गर्मी को देखते हुए दिल्ली सरकार ने स्कूलों की छुट्टी को एक और हफ्ते के लिए आगे बढ़ा दिया है. सरकार के इस फैसले के बाद अब आठवीं कक्षा तक के स्कूल आठ जुलाई को खुलेंगे जबकि उससे ऊपर की कक्षाएं सोमवार को निर्धारित समयानुसार से शुरू होंगी. उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में गर्मी को देखते हुए, कक्षा आठवीं तक के छात्रों के लिए गर्मी की छुट्टी आठ जुलाई तक बढ़ाने के फैसला किया गया है.अन्य कक्षाओं के लिए स्कूल पहले से तय अनुसार कार्यक्रम के हिसाब से ही खुलेंगे. मनीष सिसोदिया, जो शिक्षा मंत्री भी हैं, ने स्पष्ट किया कि यह आदेश सरकारी और निजी दोनों स्कूलों के लिए लागू होगा.


मौसम अधिकारियों ने शहर में लू का कहर जारी रहने की आशंका जताई है. बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी में रविवार सुबह उमस भरा मौसम रहा. वहीं शाम को हल्की बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है. मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने कहा, ‘सुबह साढ़े आठ बजे अधिकतम तापमान सामान्य से चार डिग्री अधिक 32 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.' वहीं हवा में आर्द्रता का स्तर 42 प्रतिशत रहा. मौसम वैज्ञानिक ने दिन में आंशिक रूप से बादल छाने के साथ ही हल्की बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने का पूर्वानुमान लगाया है. वहीं धूल भरी आंधी भी चल सकती है. अधिकारी ने कहा, ‘अधिकतम और न्यूनतम तापमान के क्रमश: 42 और 32 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है.'

उत्तर प्रदेश में अगले दो से तीन दिनों में हो सकती है बारिश, पढ़ें- मौसम विभाग ने क्या कहा

बता दें, देश में मानसून प्रगति में है और अगले 24 घंटे के दौरान महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के दक्षिण-पश्चिम इलाके समेत गुजरात के तटीय भागों में भारी बारिश होने की संभावना बनी हुई है. इसके अलावा, पूर्वोत्तर राज्यों के साथ-साथ ओडिशा, आंध्रप्रदेश, तेलंगाना और चंडीगढ़ में भी हल्की बारिश हो सकती है. निजी क्षेत्र के मौसम पूर्वानुमानकर्ता स्काइमेट की रिपोर्ट के अनुसार, अगले 24 घंटों के दौरान मुंबई, महाराष्ट्र, दक्षिण-पश्चिमी मध्य प्रदेश और दक्षिणी गुजरात समेत पश्चिमी तटीय भागों में भारी बारिश का सिलसिला जारी रह सकता है.

बारिश में 'स्टेच्यू ऑफ यूनिटी' की दर्शक गैलरी में भर गया पानी, वीडियो शेयर कर लोगों ने उठाए सवाल

स्काइमेट ने शनिवार शाम की अपनी रिपोर्ट में कहा कि उप-हिमालयी और सिक्किम समेत पूर्वोत्तर राज्यों में हल्की से मध्यम बारिश होने के आसार हैं, जबकि ओडिशा, चंडीगढ़, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है. इसके अलावा, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में भी बारिश होने के आसार हैं.

बीते 24 घंटों के दौरान पश्चिमी तटीय भागों में भारी वर्षा हुई है. वहीं महाराष्ट्र, असम, त्रिपुरा, ओडिशा और झारखंड में मध्यम से भारी बारिश देखने को मिली है. इसके अलावा मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान के कुछ स्थानों सहित गया, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, केरल, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हुई है. वहीं तमिलनाडु के एक-दो स्थानों में भी बारिश हुई है.

Mumbai Weather: मुंबई में बारिश से जुड़े हादसों में 4 लोगों की मौत, अगले 48 घंटे में हो सकती है भारी बारिश

स्काइमेट के अनुसार, दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून देश के पश्चिमी क्षेत्र में प्रगति में है, जबकि पूर्वी भागों में मॉनसून स्थिर बना हुआ है और मौसम विशेषज्ञों का अनुमान है कि दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून की प्रगति होगी. जिससे 1 से 3 जुलाई के बीच यह मध्य भारत समेत पश्चिमी और उत्तर-पश्चिमी भारत के अधिकांश भागों को कवर कर लेगा.

मॉनसून की उत्तरी सीमा इस समय, द्वारका, अहमदाबाद, भोपाल, जनलपुर, पेंड्रा, सुल्तानपुर, लखीमपुर खीरी और मुक्ते श्वर से होकर गुजर रही है. इसके अलावा पंजाब से हरियाणा, उत्तरी उत्तर प्रदेश, बिहार के निचले इलाकों सहित उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम और असम से होते हुए एक ट्रफ रेखा गुजर रही है.

Mumbai Weather: मुंबई में तेज बारिश, जानें कब मिलेगी आपके शहर को गर्मी से राहत

एक अन्य ट्रफ रेखा उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम से बांग्लादेश होते हुए बंगाल की खाड़ी के उत्तरी भागों तक भी फैली हुई है. इसके साथ ही बंगाल की खाड़ी के भागों पर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बना हुआ है.

एक अन्य ट्रफ रेखा उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम से बांग्लादेश होते हुए बंगाल की खाड़ी के उत्तरी भागों तक भी फैली हुई है. इसके साथ ही बंगाल की खाड़ी के भागों पर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बना हुआ है.

इसके अलावा मध्य प्रदेश के मध्य भागों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र तथा मध्य पाकिस्तान और इससे सटे पंजाब के इलाकों पर एक अन्य चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है.

टिप्पणियां

(इनपुट- एजेंसियां)

Video: मुंबई में तेज बारिश के बाद हाई टाइड का अलर्ट जारी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement