कोरोनावायरस के इलाज में लगी मेडिकल टीम के लिए दिल्ली सरकार ने बनाई यह नई व्यवस्था

मेडिकल टीम यानि डॉक्टर, नर्स और पैरामेडिकल स्टाफ लगातार 14 दिन बिना किसी छुट्टी या ब्रेक के काम करेंगे और 14 दिन लगातार काम करने के बाद इनको 14 दिन का ब्रेक दिया जाएगा. इस दौरान इनके रहने/रुकने की व्यवस्था अस्पताल करेगा.

कोरोनावायरस के इलाज में लगी मेडिकल टीम के लिए दिल्ली सरकार ने बनाई यह नई व्यवस्था

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (फाइल फोटो)

खास बातें

  • कोरोना के इलाज में लगी मेडिकल टीम के लिए बनाई गई नई व्यवस्था
  • दो शिफ्ट में लगातार 24 घंटे काम करेगी टीम
  • टीम को ठहराने के लिए होटल में किए गए 100 कमरे बुक
नई दिल्ली:

दिल्ली में कोरोना के इलाज में लगी पूरी मेडिकल टीम के लिए दिल्ली सरकार ने नई व्यवस्था बनाई है. इस व्यवस्था के मुताबिक अब सभी मेडिकल टीम 2 शिफ़्ट में काम करेंगी. एक शिफ़्ट सुबह 8:00 बजे से लेकर शाम के 6:00 बजे तक 10 घंटे रहेगी तो दूसरी शिफ्ट शाम 6:00 बजे से लेकर अगले दिन सुबह 8:00 बजे तक 14 घंटे चलेगी. मेडिकल टीम यानि डॉक्टर, नर्स और पैरामेडिकल स्टाफ लगातार 14 दिन बिना किसी छुट्टी या ब्रेक के काम करेंगे और 14 दिन लगातार काम करने के बाद इनको 14 दिन का ब्रेक दिया जाएगा. इस दौरान इनके रहने/रुकने की व्यवस्था अस्पताल करेगा. दिल्ली में ऐसे 21 अस्पताल हैं जिन पर यह आदेश लागू होगा.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के आदेश पर ये व्यवस्था बनाई गई. माना जा रहा है कि इससे तो 3 तरह की समस्याओं का निदान हो सकता है. पहला स्वास्थ्य कर्मी लगातार यह शिकायत कर रहे थे कि उनको अपने घर से अस्पताल तक जाने में बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ता है और जो बस मिलती भी है उसमें बहुत भीड़ होती है जिससे संक्रमण होने का खतरा रहता है.

COVID-19 की हेल्‍पलाइन पर फोन कर शख्‍स ने मंगवाए गरमा-गरम समोसे, डीएम ने पूरी की Wish, लेकिन...

दूसरा कोरोना के इलाज में लगे स्वास्थ्य कर्मी जब अस्पताल से घर जाते हैं तो उनको डर रहता है कि कहीं उनसे संक्रमण उनके परिवार तक ना पहुंच जाए. तीसरा कहीं जगह से यह शिकायतें आई थी कि मकान मालिक उन स्वास्थ्य कर्मियों को मकान से निकालने की बात कर रहे थे जो कोरोना के इलाज में लगे हुए हैं. कुल मिलाकर यह कहा जाए कि कोरोना के इलाज में लगे सभी स्वास्थ्य कर्मी अब अस्पताल या आसपास में ही रहेंगे जिससे उनको किसी तरह की दिक्कत न आए. 

दिल्ली: कोरोनावायरस जांच के लिए निजामुद्दीन मरकज़ से करीब 200 लोग ले जाए गए, 2,000 हुए क्वारंटाइन

वहीं दिल्ली सरकार के लोक नायक अस्पताल और जीबी पंत अस्पताल में कोरोना के इलाज में जुटे डॉक्टरों को दिल्ली सरकार पांच सितारा होटल ललित में ठहराएगी. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के आदेश पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने आदेश जारी किया है जिसके मुताबिक, 'कोरोना के इलाज में लगे लोकनायक अस्पताल और जीबी पंत अस्पताल के डॉक्टर के रहने की व्यवस्था होटल ललित में की जाएगी इसके लिए नई दिल्ली के डीएम को आदेश दिए गए हैं कि वह 100 कमरे बुक कराएं. इनका खर्चा दिल्ली सरकार उठाएगी.'
 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com