NDTV Khabar

हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस से पूछा, FIR में उर्दू और फारसी शब्दों का इस्तेमाल क्यों किया जा रहा है?

दिल्ली उच्च न्यायालय (Delhi HC) ने बुधवार को शहर के पुलिस आयुक्त को यह जानना चाहा कि प्राथमिकी (एफआईआर) में उर्दू या फारसी के शब्दों का इस्तेमाल क्यों किया जा रहा है, जबकि शिकायतकर्ता इनका इस्तेमाल नहीं करते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस से पूछा, FIR में उर्दू और फारसी शब्दों का इस्तेमाल क्यों किया जा रहा है?

Delhi High Court: अदालत ने कहा कि प्राथमिकी में भारी शब्दों के बजाय सामान्य भाषा का प्रयोग होना चाहिए

खास बातें

  1. FIR में उर्दू और फारसी शब्दों का इस्तेमाल क्यों किया जा रहा है?
  2. भारी शब्दों की जगह पर सामान्य शब्दों का प्रयोग होना चाहिए
  3. दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस से पूछा

दिल्ली उच्च न्यायालय ने बुधवार को शहर के पुलिस आयुक्त को यह जानना चाहा कि प्राथमिकी (एफआईआर) में उर्दू या फारसी के शब्दों का इस्तेमाल क्यों किया जा रहा है, जबकि शिकायतकर्ता इनका इस्तेमाल नहीं करते हैं. साथ ही, अदालत ने कहा कि प्राथमिकी में भारी-भरकम शब्दों के बजाय सामान्य भाषा का इस्तेमाल किया जाना चाहिए. मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति सी हरि शंकर की पीठ ने दिल्ली पुलिस से कहा कि प्राथमिकी शिकायतकर्ता के शब्दों में होनी चाहिए और इसमे 'लच्छेदार भाषा' का इस्तेमाल नहीं किया जाए, जिनका मतलब शब्दकोश में ढूंढना पड़ता हो. 

खुद को बैंक मैनेजर बताकर शख्स ने पंजाब के मुख्यमंत्री की पत्नी को लगाया चूना, खाते से निकाल लिए 23 लाख रुपये

अदालत ने कहा कि पुलिस आम आदमी का काम करने के लिए है, सिर्फ उन लोगों के लिए नहीं है जिनके पास उर्दू या फारसी में डॉक्टरेट की डिग्री है. पीठ ने दिल्ली पुलिस से कहा, "अत्यधिक लच्छेदार भाषा, जिनका अर्थ शब्दकोश में ढूंढना पड़े, का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. एफआईआर शिकायतकर्ता के शब्दों में होनी चाहिए. (एफआईआर) भारी भरकम शब्द की जगह आसान भाषा का इस्तेमाल होना चाहिए. लोगों को जानना होता है कि क्या लिखा गया है. यह अंग्रेजी के इस्तेमाल पर भी लागू होता है. भारी भरकम शब्दों का इस्तेमाल नहीं करें." 


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज जम्मू-कश्मीर को लेकर देश को कर सकते हैं संबोधित

अदालत ने पुलिस आयुक्त को एक हलफनामा दाखिल कर यह स्पष्ट करने के कहा है कि उर्दू-फारसी का इस्तेमाल एजेंसी(पुलिस) करती है या शिकायतकर्ता करते हैं. बहरहाल, अदालत ने इस विषय की सुनवाई 25 नवंबर के लिए सूचीबद्ध कर दी. अदालत एक जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही थी जिसमें दिल्ली पुलिस को एफआईआर में उर्दू या फारसी के शब्दों का इस्तेमाल नहीं करने का निर्देश देने का अनुरोध किया गया है. 

जम्मू को अलग राज्य बनाने के लिए इस संगठन के नेताओं ने उठाई आवाज

वहीं, पुलिस की ओर से पेश हुए दिल्ली सरकार के अतिरिक्त अधिवक्ता ने कहा कि एफआईआर में इस्तेमाल किये गए उर्दू और फारसी के शब्दों को थोड़ी सी कोशिश कर समझा जा सकता है. 

टिप्पणियां

VIDEO: 15 अगस्त के मद्देनजर अलर्ट पर दिल्ली पुलिस



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement