NDTV Khabar

हाई कोर्ट ने DU के पूर्व प्रोफेसर को 16 साल पुराने यौन उत्पीड़न के आरोप से मुक्त किया

अदालत ने साल 2002 में दिल्ली विश्वविद्यालय की कार्यकारी परिषद द्वारा प्रोफेसर को सेवा मुक्त करने के फैसले को भी रद्द कर दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हाई कोर्ट ने DU के पूर्व प्रोफेसर को 16 साल पुराने यौन उत्पीड़न के आरोप से मुक्त किया

हाई कोर्ट ने DU के पूर्व प्रोफेसर को 16 साल पुराने यौन उत्पीड़न के आरोप से मुक्त किया- प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिल्ली विश्वविद्यालय के पूर्व प्रोफेसर (75 साल आयु) पर 16 साल पहले दो शोधार्थियों द्वारा लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोप को खत्म कर दिया है.

यह भी पढ़ें- JNU के असिस्‍टेंट प्रोफेसर पर साहित्यिक चोरी का आरोप, कोर्ट ने केंद्र से पूछा सवाल

अदालत ने साल 2002 में दिल्ली विश्वविद्यालय की कार्यकारी परिषद द्वारा प्रोफेसर को सेवा मुक्त करने के फैसले को भी रद्द कर दिया है. प्रोफेसर की आर्थिक स्थिति के संकट को खत्म करने का कदम उठाते हुए न्यायमूर्ति वी कामेश्वर राव ने विश्वविद्यालय प्रशासन से संस्कृत विभाग के पूर्व प्रमुख को सभी बकाया राशि और सेवानिवृत लाभों को तीन महीने के भीतर देने को कहा है.

यह भी पढ़ें- कोर्ट ने ओला, उबर को आरोपी के तौर पर तलब किया, जानें क्या है मामला

प्रोफेसर उस समय 60 साल के थे जब उन पर कार्रवाई की गई थी, उस समय वह दो साल तक और अपनी सेवाएं दे सकते थे. हालांकि अदालत ने यह साफ कर दिया है कि वह इस दो साल की अवधि के लिए किसी बकाया राशि के हकदार नहीं होंगे. ​फैसले में दिल्ली विश्वविद्यालय की उस मांग को स्वीकार नहीं किया गया है, जिसमें यह कहा गया था कि ताजा निर्णय के लिए इस मामले को दोबारा जांच समिति के समक्ष भेजा जाए.

टिप्पणियां
वीडियो- फिर खुल सकता है बोफोर्स घोटाला


अदालत ने यह पाया है कि प्रोफेसर अपने ऊपर लगे इस कलंक को सिर्फ हटवाने के लिए अदालत तक आए और उन्होंने अपनी सेवा के दो साल गंवाने के लिए कोई वित्तीय राहत नहीं मांगी है. अदालत ने कहा, “अदालत याचिकाकर्ता की उम्र (75) और शोधार्थियों की उम्र को देखते हुए फिर से पूरे मामले की जांच कराना उम्र के इस पड़ाव पर पक्षों के लिए शर्मनाक हो सकता है.”


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement