दिल्ली: लूटपाट के लिए हत्या, पर्स में निकले महज 250 रुपये

दिल्ली के कमला मार्केट इलाके में 14 जनवरी की रात को लूटपाट के दौरान हुई 37 साल के दीपक की हत्या की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है.

दिल्ली: लूटपाट के लिए हत्या, पर्स में निकले महज 250 रुपये

तीसरे दिन दीपक का मोबाइल चालू हो गया पुलिस ने मोबाइल की लोकेशन के जरिये पर एक शख्स को पकड़ा

नई दिल्ली:

दिल्ली के कमला मार्केट इलाके में 14 जनवरी की रात को लूटपाट के दौरान हुई 37 साल के दीपक की हत्या की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है. पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. दोनों ने लूटपाट के दौरान दीपक को चाकू मारे लेकिन दीपक के पर्स में महज़ 250 रुपये ही निकले. आरोपियों में उपेंद्र प्रताप और बुलंदशहर यूपी का रहने वाला सनी है, पुलिस ने आरोपियों के पास से मृतक का लूटा गया मोबाइल और वारदात में इस्तेमाल चाकू भी बरामद कर लिया है. पुलिस के मुताबिक आरोपियों के सुराग मृतक के मोबाइल से मिले,आरोपी उपेंद्र ने फिरोजाबाद, यूपी के एक कॉलेज से कॉमर्स में स्नातक किया है. 

दिल्ली के जहांगीरपुरी में डबल मर्डर, महिला और उसके 12 साल के बेटे की हत्या

मध्य दिल्ली के डीसीपी एमएस रंधावा के मुताबिक 14 जनवरी की रात को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के पास एक शख्स की चाकू मारकर हत्या कर दी गई थी. पुलिस ने युवक से मिले कागजात के आधार पर उसकी पहचान न्यू सीलमपुर के रहने वाले दीपक के रूप में की. दीपक भोपाल शताब्दी एक्सप्रेस में वेटर की नौकरी करता था. पुलिस की पूछताछ में दीपक की पत्नी ने बताया कि उसके पति का मोबाइल व पर्स भी गायब है. पुलिस ने लूट के एंगल से मामले की छानबीन शुरू की. उसके मोबाइल को सर्विलांस पर लगाया गया तो तीसरे दिन दीपक का मोबाइल चालू हो गया पुलिस ने मोबाइल की लोकेशन के जरिये पर एक शख्स को पकड़ा. उस शख्स ने बताया कि मोबाइल उसने एक रिक्शा चालक से यमुना बाजार इलाके से खरीदा था. 

Newsbeep

मुंबई : लोकमान्य तिलक टर्मिनस के पास महिला के साथ गैंगरेप, चारों आरोपियों को पुलिस ने दबोचा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पुलिस ने रिक्शा चालक को भी ट्रेस पकड़ लिया, रिक्शा चालक से पूछताछ के बाद पुलिस ने सनी नाम के आरोपी को गिरफ्तार किया. सनी ने ही मोबाइल रिक्शा चालक को दिया था. पूछताछ में सन्नी ने बताया कि उसने उपेंद्र के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया. इसके बाद पुलिस ने उपेंद्र को भी पहाडग़ंज इलाके से गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में दोनों आरोपियों ने बताया कि वह वेटर का काम करते हैं, इस धंधे में वो ज्यादा पैसा नहीं कमा पाते थे. इसलिए उन्होंने लूटपाट की साज़िश रची. 14 जनवरी को मृतक दीपक घटना स्थल के पास टॉयलेट के लिए रुका था उसी दौरान दोनों ने दीपक पर हमला कर दिया. विरोध करने पर आरोपियों ने उसे चाकू मार दिए, वारदात के बाद वह चाकू झाडिय़ों में फेंककर दीपक का मोबाइल व पर्स लूटकर ले गए, पर्स में महज 250 रुपये निकले थे. 

Video:छेड़छाड़ पीड़िता की मां को जमानत पर छूटे आरोपियों ने मारा