दिल्‍ली पुलिस के कांस्‍टेबल को 'दलाल' समझकर रेप के बाद नाबालिग लड़की को बेचने की कोशिश

उत्तर-प्रदेश के लोनी इलाके में एक अमेरिकन एक्सप्रेस के कैब ड्राइवर ने 15 साल की लड़की के साथ रेप किया और इसके बाद अपने साथी के साथ उसे बेचने के लिए दिल्ली के रेड लाइट एरिया में लाया.

दिल्‍ली पुलिस के कांस्‍टेबल को 'दलाल' समझकर रेप के बाद नाबालिग लड़की को बेचने की कोशिश

दिल्‍ली पुलिस ने आरोपी परवेज और शोएब को गिरफ्तार किया

खास बातें

  • अमेरिकन एक्सप्रेस के कैब ड्राइवर ने 15 साल की लड़की का रेप किया
  • रेप के बाद साथी के साथ उसे बेचने के लिए दिल्ली के रेड लाइट एरिया में लाया
  • इंस्पेक्टर की सूझबूझ से लड़की को बचा लिया गया
नई दिल्ली:

उत्तर-प्रदेश के लोनी इलाके में एक अमेरिकन एक्सप्रेस के कैब ड्राइवर ने 15 साल की लड़की के साथ रेप किया और इसके बाद अपने साथी के साथ उसे बेचने के लिए दिल्ली के रेड लाइट एरिया में लाया. दिल्ली पुलिस के इंस्पेक्टर की सूझबूझ से लड़की को बचा लिया गया. थाना इंचार्ज ने एक नाबालिग लड़की को दिल्ली के रेड लाइट एरिया जीबी रोड पर बिकने से पहले ही बचा लिया. 

जबलपुर में नाबालिग के साथ पांच युवकों ने कई बार किया सामूहिक बलात्कार

दिल्‍ली पुलिस ने लड़की का सौदा कर रहे दो युवकों को भी गिरफ्तार कर लिया है. यह युवक उत्तर-प्रदेश के मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं. इनमें एक परवेज है और दूसरा शोएब है. पुलिस ने बताया कि इस मामले में गिरफ्तार दूसरा आरोपी शोएब यूपीएससी की तैयारी कर रहा है. लड़की मेरठ की रहने वाली है और वह मेरठ से शामली ट्रेन से जा रही थी. तभी उसकी मुलाकात परवेज से हुई परवेज उसे बहला फुसलाकर लोनी ले गया. लोनी में रेप करने के बाद उसने शोएब को बुलाया फिर दोनों लड़कीं को जीबी रोड ले गए. आरोपी परवेज ने कहा कि वो लड़की को बेचकर नई कार खरीदना चाहता था.

रोज जन्म लेती है निर्भया और तिल-तिल, पल-पल मरती है उसकी अस्मिता...

यह दोनों 15 साल की नाबालिग लड़की को बेचने के लिए जीबी रोड लेकर आए थे. जीबी रोड पर यह दोनों इसको बेचने के लिए दलाल की तलाश करने लगे. वहां सादी वर्दी में तैनात सुंदर नाम के पुलिसकर्मी से इत्तफाकन टकरा गए और उसे दलाल समझ कर उससे लड़की को बेचने की बात करने लगे. कांस्टेबल सुंदर ने बड़ी चालाकी से अपने आपको कोठे का दलाल बता दिया. इन लोगों ने 2 लाख रुपये रेट मांगा. सुंदर ने अपने बॉस से रेट की बात कराने की बात कहकर एसएचओ से बात करवा दी. एसएचओ ने भी कोठे का बॉस बनकर लड़की को 1 लाख 80 हज़ार में खरीदने के लिए सौदा मंजूर कर लिया. 


राम होते तो उन्नाव देख शर्मसार होते...

इसके बाद बताए गये ठिकाने पर जैसे ही परवेज ओर शोएब लडक़ी को लेकर आये पुलिस ने दोनों को दबोच लिया.
परवेज नाम के कैब ड्राइवर ने नाबालिग लड़की को बेचने से पहले उसके साथ लोनी उत्तर-प्रदेश के सुनसान इलाके में कैब में रेप भी किया. पुलिस ने कार को कब्जे में ले लिया है और दोनों को गिरफ्तार लिया है. पुलिस ने इनपर पोक्सों एक्ट के साथ-साथ महिला तस्करी ओर बेचने से संबंधित धाराएं लगाई हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: क्यों नहीं रुक रहे महिलाओं के ख़िलाफ़ अपराध?

गौरतलब बात यह है कि कमला मार्किट थाने के एसएचओ ने पिछले साल 2017 में इसी तरह अपनी सूझबूझ से एक लड़की को बिकने से बचाया था.