दिल्ली मेट्रो के 'प्रगति मैदान' मेट्रो स्टेशन का नाम बदला, अब 'सुप्रीम कोर्ट' के नाम से जाना जाएगा

बता दें कि सिर्फ प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन का ही नहीं बल्कि मुकरबा चौक और फ्लाईओवर समेत बदरपुर महरौली रोड का भी नाम बदला गया है.

दिल्ली मेट्रो के 'प्रगति मैदान' मेट्रो स्टेशन का नाम बदला, अब 'सुप्रीम कोर्ट' के नाम से जाना जाएगा

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन का नाम बदलने की घोषणा की गई है. अब से इस स्टेशन को सुप्रीम कोर्ट मेट्रो स्टेशन के नाम से जाना जाएगा. प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन का नाम बदलने का फैसला दिल्ली सरकार की नेमिंग कमेटी द्वारा लिया गया है. इस फैसले की जानकारी दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिया है. बता दें कि सिर्फ प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन का ही नहीं बल्कि मुकरबा चौक और फ्लाईओवर समेत बदरपुर महरौली रोड का भी नाम बदला गया है. अब से मुकरबा चौक और फ्लाईओवर का नाम शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा चौक होगा. जबकि बदरपुर महरौली रोड का नाम बदलकर आचार्य श्री महाप्रज्ञ किया गया है. 

बता दें इससे पहले कुछ समय पहले ही अकबर रोड के साइनबोर्ड पर एक पोस्टर चिपका पाया गया जिसमें 'महाराणा प्रताप मार्ग' लिखा हुआ था. इसी मार्ग पर कई केंद्रीय मंत्रियों, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का आवास और कांग्रेस का मुख्यालय था. यह क्षेत्र नई दिल्ली नगर निगम परिषद के अंतर्गत आता है. एनडीएमसी के प्रवक्ता ने कहा था परिषद को ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं मिला है तथा इस प्रकार के नाम परिवर्तन को मंजूरी भी नहीं दी गई थी. साइनबोर्ड को विरूपित करना कानून एवं व्यवस्था का मुद्दा है तथा पुलिस को आवश्यक कदम उठाने चाहिए.' 

यह भी पढ़ें : वीके सिंह की मांग अकबर रोड का नाम बदलकर महाराणा प्रताप ने नाम पर हो

अभी तक किसी ने भी इस काम की जिम्मेदारी नहीं ली है. यह काम ऐसे दिन सामने आया है, जबकि मेवाड़ के गौरव की आज जयंती है. बहरहाल, ऐसा पहली बार नहीं है कि अकबर रोड के साइनबोर्ड को विरूपित किया गया हो. अकबर रोड के साइनबोर्ड को 2016 में भी विरूपित किया गया था और 'महाराणा प्रताप मार्ग' के पोस्टर लगाए गए थे. उस समय इस कृत्य की जिम्मेदारी दक्षिणपंथी संगठन हिन्दू सेना ने ली थी.

Newsbeep

दिल्ली यूनिवर्सिटी के दयाल सिंह कॉलेज का बदला नाम, अब हुआ ये..

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि हमारे गश्त कर्मियों ने पोस्टर देखा और उसे हटा दिया. हम एनडीएमसी की ओर से शिकायत की प्रतीक्षा कर रहे हैं तब हम इस मामले में प्रकरण दर्ज करेंगे. जनरल (सेवानिवृत) वीके सिंह ने शहरी विकास मंत्रालय को दो साल पहले लिखकर प्रस्ताव किया था कि अकबर रोड का नाम बदलकर महाराणा प्रताप रोड कर दिया जाना चाहिए. उस समय एनडीएमसी के उपाध्यक्ष करन सिंह तंवर ने कहा था कि वह इस मुद्दे को परिषद के समक्ष उठाएंगे, लेकिन इस बारे में कोई प्रस्ताव नहीं किया गया