NDTV Khabar

राष्ट्रपति और पीएम का योगा टीचर बताकर करता था ठगी, पुलिस ने दबोचा तो खुला राज

पुलिस (Delhi Police) की जांच में पता चला है कि आरोपी युवक ऋषिकेश के तपोवन में ऋषिधाम के नाम से अपना योगा आश्रम भी चलाता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राष्ट्रपति और पीएम का योगा टीचर बताकर करता था ठगी, पुलिस ने दबोचा तो खुला राज

पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

खास बातें

  1. रूसी महिला ने की थी पुलिस से शिकायत
  2. ऋषिकेश में आश्रम चला रहा था आरोपी
  3. पुलिस कर रही है आरोपी से पूछताछ
नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने एक ऐसे ठग को गिरफ्तार किया है जो खुदको भारत के राष्ट्रपति (President of India) और प्रधानमंत्री (PM Modi) का योगा टीचर बताकर लोगों से ठगी करता था. पुलिस (Delhi Police) ने आरोपी युवक की पहचान 30 वर्षीय अभिषेक के रूप में की है. वह मूल रूप से उत्तराखंड का रहने वाला है. पुलिस (Delhi Police) की जांच में पता चला है कि आरोपी युवक ऋषिकेश के तपोवन में ऋषिधाम के नाम से अपना योगा आश्रम भी चलाता है. पुलिस (Delhi Police) के अनुसार उसे एक रूसी नागरिक की तरफ से शिकायत मिली थी कि आरोपी ने आश्रम में इंवेस्टमेंट के नाम पर उससे पांच लाख रुपये ठग लिए हैं. आरोपी के खिलाफ शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. पीड़िता ने पुलिस को बताया कि आरोपी से उसकी दोस्ती फेसबुक के जरिये हुई थी. पीड़िता खुद भी थाईलैंड में एक योगा टीचर है.

यह भी पढ़ें: फेसबुक पर दोस्ती कर विदेशी महिला ने युवक से ठगे 40 लाख रुपये, गिरोह गिरफ्तार


पीड़िता ने बताया कि आरोपी अभिषेक ने खुद को प्रधानमंत्री का योगा टीचर बताकर पहले उसे प्रभावित किया और बाद में उससे अपने आश्रम में निवेश के नाम पर पांच लाख रुपये ऐंठ लिए. मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी ने बताया कि मामले की शुरुआती जांच में पता चला है कि वह लोगों से ठगी करने कि लिए पीएम और राष्ट्रपति की मॉर्फ्ड तस्वीरें भी सोशल साइट्स पर लगाकर रखता था. लोगों को अपनी जाल में फंसाने के लिए वह बताता था कि वह देश ही नहीं विदेश में भी योग सिखाने के लिए जाता है. फेसबुक से दोस्ती कर ठगी करने का यह कोई पहला मामला नहीं है. शहादरा के फर्श बाजार इलाके मे एक ऐसा ही मामला सामने आया था. यहां एक विदेशी महिला पर डॉक्टर से दोस्ती कर उससे 40 लाख रुपये ठगने का आरोप लगा था.

यह भी पढ़ें: हलाल की कमाई के नाम पर ठगी, कर्नाटक की नेता मुंबई पुलिस की गिरफ्त में

इस मामले में पुलिस ने घटना में शामिल आरोपी महिला समेत कुल तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस को आरोपियों के पास से बड़ी मात्रा में फर्जी पाउंड छापने की मशीन और कई अन्य फर्दी दस्तावेज कब्जे में लिए थे. शाहदरा जिला पुलिस उपायुक्त नुपूर प्रसाद ने बताया था कि पीड़ित युवक ने पिछले साल अक्टूबर में हमें शिकायत दी थी. अपनी शिकायत में आरोपी ने बताया कि कुछ दिन पहले उसकी दोस्ती फेसबुक पर एक महिला से हुई . आरोपी महिला ने बताया था कि वह लंदन में रह रही थी. कुछ दिन की बातचीत के बाद महिला ने पीड़ित युवक को बताया कि वह उससे मिलने नवंबर में भारत आने वाली थी.

यह भी पढ़ें: सरकारी नौकरी के नाम पर ठगी करना पड़ा भारी, पुलिस ने 18 लोगों को किया गिरफ्तार 

नवंबर में पीड़ित के पास आरोपी महिला ने फोन किया और बताया कि वह भारत में मुंबई आ चुकी है. लेकिन उसके पास ज्यादा पाउंड होने की वजह से उसे कस्टम अधिकारियों ने रोक लिया है. यहां से बाहर निकलने के लिए उसे कस्टम अधिकारियों को भारतीय रुपयों में पैन्लटी का भुगतान करना होगा. पीड़ित का आरोप है कि इसके बाद महिला ने पीड़ित से अलग-अलग बहाने से 40 लाख रुपये ठग लिए. हालांकि मामले के सामने आने के बाद पुलिस ने बाद में पीड़ित से पूछताछ के आधार पर आरोपियों को दिल्ली से गिरफ्तार किया था. 

VIDEO: मुस्लिम परिवारों से ठगी.

टिप्पणियां

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement