NDTV Khabar

'बेटा' पैदा कराने के लिए महिलाओं को भेजते थे विदेश, दिल्ली पुलिस ने किया रैकेट का भंडाफोड़ 

रैकेट के जानकारी मिलते ही दिल्ली पुलिस और केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम ने करोल बाग इलाके में छापेमारी की. पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि आरोपी महिलाओं तक पहुंचने के लिए कॉलसेंटर भी चलाते थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस और केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग की टीम ने राजधानी दिल्ली में एक बड़े रैकेट का भंडाफोड़ किया है. दिल्ली पुलिस के अनुसार दिल्ली में बीते लंबे समय से एक ऐसा गिरोह सक्रिय था जो महिला को बेटा पैदा करने के लिए विदेश भेजता था. इस रैकेट के जानकारी मिलते ही दिल्ली पुलिस और केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम ने करोल बाग इलाके में छापेमारी की. पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि आरोपी महिलाओं तक पहुंचने के लिए कॉलसेंटर भी चलाते थे. इस काम के लिए प्रत्येक महिला से 9 लाख रुपये लिया जाता था. इस गिरोह के संपर्क में वही महिलाएं आती थीं जिन्हें लड़के की चाह होती थी. गिरोह के सदस्य इन महिलाओं को दुबई, सिंगापुर और थाईलैंड जैसे देश भेजते थे. 

पैदा होते ही बच्चे को किया अगवा, महिला और उसका दोस्त गिरफ्तार


पुलिस अधिकारियों के अनुसार उन्हें इस रैकेट की जानकारी कीर्ति नगर में आईवीएफ सेंटर पर की गई छापेमारी के दौरान मिली थी. पुलिस की अभी तक की जांच के अनुसार देश भर में इस तरह के 100 आईवीएफ सेंटर चलाने जाने की बात सामने आई है. दिल्ली में ऐसे कॉल सेंटर बीते दो साल से सक्रिय थे. जिस कॉलसेंटर पर छापेमारी की गई है वहां का मालिक आईआईटी इंजीनियर है. इस कॉल सेंटर में करीब 300 लोग काम करते थे. पुलिस की इस रेड में कॉल सेंटर से 300 लैपटॉप जब्त किए हैं. दिल्ली पुलिस  की साइबर सेल इन लैपटॉप में मौजूद डेटा तक पहुंचने की कोशिश कर रही है. इसके लिए दिल्ली पुलिस ने एफएसएल की टीम से भी मदद मांगी है. पुलिस उन दंपत्तियों तक पहुंचने की भी कोशिश कर रही है, जिन्होंने बेटे की चाहत पूरी करने के लिए इस गिरोह से संपर्क किया था.

पूरा खानदान करता है वाहन चोरी, मुखिया पकड़ा गया ; 14 महंगी गाड़ियां बरामद

पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि आरोपियों का आईवीएफ सेंटर से एमओयू था. वहां उनका हमेशा एक रिप्रेजेन्टेटिव होता था. पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी पहले 10 हजार रुपये रजिस्ट्रेशन एग्रीमेंट करते थे जिसे बाद में डील पूरी होने के बाद वापस कर दिया जाता था. काम पूरा होने के बाद हर महिला से लिए गए 9 लाख रुपये में से 20 फीसदी ELA WOMEN का हिस्सा बनता था. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस पूरे मामले में उन दंपत्तियों पर कार्रवाई होगी जिन्होंने जन्म से पहले बच्चे के लिंग की पहचान कराई और बाद में बच्चे पैदा हुए. पुलिस के अनुसार इस रैकेट का नेटवर्क पूरे देश में फैला था. देश भर में इस गिरोह ने छह लाख लोगों से संपर्क किया था. अकेले दिल्ली में 200 दंपत्तियों की मदद की बात सामने आई है. दिल्ली पुलिस की टीम ने सोमवार शाम को रेड शुरू की जो देर रात 2 बजे तक चली.

दिल्ली के इस बड़े अस्पताल के CEO पर लगा किडनी रैकेट में शामिल होने का आरोप, SIT ने किया गिरफ्तार

बता दें कि पुलिस को इस पूरे रैकेट का पता किसी महिला के फोन कॉल से मिली थी. दरअसल, इस महिला ने शुक्रवार को ELA WOMEN नाम के एक कॉल सेंटर के बारे में केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग से शिकायत की थी. इसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग ने इसकी जानकारी दिल्ली सरकार को दी. इसके बाद ही मामले की जानकारी दिल्ली पुलिस को दी गई. बता दें कि कॉल करने वाली महिला ने बताया था कि पटेल नगर में ELA WOMEN नाम का एक सेन्टर है. जो फैमिली बैलेंसिंग के नाम पर लिंग निर्धारण का धंधा कर रहा है. इनका एक कॉल सेन्टर करोल बाग में है. जिसमे 300 लोग काम कर रहे है.आरोपी ELA WOMEN वेबसाइट के जरिये और पम्पलेट के जरिये अपना प्रचार करते थे. जो लोग इनसे संपर्क में आते थे, उनका एड्रेस लेते थे, फिर उनके घर के पास वाले IVF सेन्टर भेज देते थे. IVF सेन्टर में इनका आदमी होता था, जो पूरी डील के बारे में बताते थे. किस देश मे जाने पर कितना खर्च आएगा, ये बताते थे. जिसके लिए ये लोग 9 लाख रुपये तक लेते थे. इस 9 लाख में इनका 20 से 30% कमीशन होता था.  10 हज़ार रजिस्ट्रेशन का लेते थे. अभी तक 6 लाख लोग इनसे संपर्क काट चुके थे. 

दिल्ली पुलिस के इस अधिकारी को कहते हैं वर्दी वाला सोशल वर्कर, जानें इनके बारे में

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही दिल्ली महिला आयोग ने (DCW) दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के साथ बुराड़ी में स्पा (Spa) सेंटर में ऑनलाइन सेक्स रैकेट (Online sex racket) का भंडाफोड़ किया था. स्पा सेंटर से चार लड़कियों को बचाया गया था. इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था. दिल्ली महिला आयोग ने दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के साथ मिलकर बुराड़ी स्थित एक स्पा सेंटर ‘18प्लस ब्यूटी टेंपल' का निरीक्षण किया और वहां चल रहे सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया था.

टिप्पणियां

मॉल में चल रहा था सैक्स रैकेट, पुलिस थी अनजान; फिर कुछ ऐसे हुआ भंडाफोड़

दिल्ली महिला आयोग के पास एक शिकायत आई थी जिसमें एक वेबसाइट के बारे में बताया गया था. इस शिकायत के बाद कार्रवाई की गई थी. दिल्ली महिला आयोग को मिली शिकायत में कहा गया था कि बुराड़ी में एक स्पा में सेक्स रैकेट (Sex racket) चल रहा है. वेबसाइट पर लड़कियों की फोटो और रेट डाल रखे थे. जब महिला आयोग ने जगह का निरीक्षण कराया तो पता चला कि बहुत बड़ा रैकट है और स्पा में बाउंसर और तहख़ाने हैं.



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement