NDTV Khabar

दिल्ली: चोरी के आरोप में महिला की पीट-पीटकर हत्या, 2 लोग गिरफ्तार

महरौली में चोरी के आरोप में एक विधवा महिला की पीट-पीटकर हत्या का मामला सामने आया है. पुलिस ने इस मामले में 2 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली: चोरी के आरोप में महिला की पीट-पीटकर हत्या, 2 लोग गिरफ्तार

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. चोरी के आरोप में महिला की पीट-पीटकर हत्या
  2. घरों में खाना बनाने और बर्तन धोने का काम करती थी महिला
  3. हत्या के मामले में 2 लोग गिरफ्तार
नई दिल्ली:

महरौली में चोरी के आरोप में एक विधवा महिला की पीट-पीटकर हत्या का मामला सामने आया है. पुलिस ने इस मामले में 2 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. महिला किराये के घर में रहती थी और उसके मकानमालिकों ने ही उसकी हत्या कर दी. महिला का नाम मंजू गोयल था और वह घरों में खाना बनाने और बर्तन धोने का काम करती थी. मंजू के ऊपर उसके मकान मालिकों ने 60-70 हजार रुपए चोरी का इल्जाम लगाया था. मंजू के परिजनों ने बताया कि शनिवार सुबह के वक्त उन्हें मंजू के मकान मालिक का फोन आया कि उनकी बहन घायल हो गई है.

चोर समझकर लोगों ने पीट-पीटकर कर दिया था अधमरा, 18 दिन बाद युवक ने अस्पताल में तोड़ा दम

मंजू के परिजन जब मौके पर पहुंचे तो उन्हें मकान मालिक ने बताया कि मंजू ने उनके घर से 60-70 हजार रुपए चोरी किये हैं जो उन्हें उसके कमरे में मिले है और उसकी हमने पिटाई की है. घायल अवस्था मे मंजू के परिजन उन्हें अपने घर ले गए जहां डॉक्टर से इलाज करवाया लेकिन शाम के वक्त मंजू की तबियत खराब हो गई और उसकी मौत हो गई. 


परिजनों ने ये भी बताया कि मंजू की पिटाई मकान मालिक सतीश पाहवा उसके बेटे पंकज पाहवा और घर की नौकरानी समेत 3 महिलाओं ने की थी. पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए महिला के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है.

टिप्पणियां

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बड़े हथियार तस्कर को किया गिरफ्तार, बड़ी मात्रा में कारतूस बरामद

मंजू के परिजनों के आरोप पर पुलिस ने IPC की धारा 302 में मुकद्दमा दर्ज कर मकान मालिक सतीश पाहवा और उसके बेटे पंकज को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस की जांच अभी भी जारी है. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... नागरिकता सिर्फ अधिकार नहीं बल्कि कर्तव्यों के बारे में भी है : चीफ जस्टिस एसए बोबडे

Advertisement