NDTV Khabar

दिलशाद गार्डन किडनैपिंग केस: नर्सरी क्‍लास के छात्र को छुड़ाया, एक किडनैपर मुठभेड़ में ढेर, दो को पकड़ा

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने 25 जनवरी को दिलशाद गार्डन से नर्सरी क्लास के छात्र के किडनैपिंग का मामला सुलझा लिया है. पुलिस ने अगवा हुए बच्चे रिहानश को अपहरणकर्ताओं के चंगुल से सकुशल छुड़ा लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिलशाद गार्डन किडनैपिंग केस: नर्सरी क्‍लास के छात्र को छुड़ाया, एक किडनैपर मुठभेड़ में ढेर, दो को पकड़ा

नर्सरी के छात्र को दिल्‍ली पुलिस ने किडनैपर्स के चुंगल से छुड़ाया

खास बातें

  1. 25 जनवरी की सुबह 2 बाइक सवार बदमाशों ने किया था किडनैप
  2. 28 जनवरी को अपहरणकर्ताओं ने मांगी थी 50 लाख की फिरौती
  3. 12 दिन बाद पुलिस को अपहरणकर्ताओं की सही लोकेशन का पता चला
नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने 25 जनवरी को दिलशाद गार्डन से नर्सरी क्लास के छात्र के किडनैपिंग का मामला सुलझा लिया है. पुलिस ने अगवा हुए बच्चे रिहानश को अपहरणकर्ताओं के चंगुल से सकुशल छुड़ा लिया है. इस कार्रवाई में एक बदमाश की मौत हो गई है तो वहीं दूसरा बदमाश घायल है और उसे जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस ने इस मामले में तीसरे आरोपी नितिन को गिरफ्तार किया है. 

5 वर्षीय गुमशुदा बच्‍ची घर लौटी, आरोपी सौतेले भाई ने कहा, 'बस उसके साथ खेलना चाहता था'

दरअसल 25 जनवरी की सुबह रिहानश अपनी बहन के साथ स्कूल बस से जा रहा था तभी अचानक दिलशाद गार्डन इलाके में बाइक सवार 2 बदमाशों ने बस ड्राइवर के पैर में गोली मारकर रिहानश को अगवा कर लिया था. 28 जनवरी को जब अपहरणकर्ताओं ने फिरौती की रकम के लिए परिवार से 50 लाख की फिरौती मांगी और इसी से दिल्ली पुलिस को सुराग मिला.

आखिरकार 12 दिन की मशक्कत के बाद पुलिस को अपहरणकर्ताओं की सही लोकेशन का पता चला. साहिबाबाद के शालीमार सिटी में एबोय अपार्टमेंट के फ्लैट नम्बर 505 से दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने सोमवार रात करीब 1 बजे दबिश दी. पुलिस के मुताबिक, अपहरणकर्ताओं ने पुलिस टीम पर फायरिंग की और इस मुठभेड़ में एक बदमाश रवि मारा गया, तो दूसरा बदमाश पंकज घायल अवस्था में पकड़ लिया गया. पुलिस ने तीसरे आरोपी नितिन को भी गिरफ्तार कर लिया है.


मुंबई : 2 करोड़ की फिरौती उगाहने वाले अपहर्ता गिरफ्तार, पिता बनने की खबर से मिला सुराग

टिप्पणियां

इस मुठभेड़ में क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर विनय त्यागी की बुलेटप्रूफ़ जैकेट में भी एक गोली लगी. बच्चा सकुशल बरामद कर लिया गया है. एबोय अपार्टमेंट के गार्ड सुनील ने बताया कि रवि, पंकज अपहरणकर्ता यहां किराये पर 6 महीने से रह रहे थे. जाहिर है अपहरणकर्ताओं के नापाक हौंसलों पर पानी फेरते हुए दिल्ली पुलिस ने जिस तरह से 5 साल के रिहानश को उसके परिवार को वापस सौंपा है ये पुलिस के लिए बडी कामयाबी है.

VIDEO: दिल्ली में मामूली सी टक्कर होने पर युवक पर चढ़ा दी कार

किडनैपिंग की यह घटना 25 जनवरी को हुई उस दिन दिल्ली में ही आसियान सम्मेलन था और 26 जनवरी को लेकर पुलिस हाईअलर्ट पर थी.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement