NDTV Khabar

मसाज पार्लर की आड़ में सेक्स रैकेट: हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस से पूछा- कुछ काम करिये, अब तक कितने पार्लर बंद हुए?

दिल्ली पुलिस की खिंचाई करते हुए उच्च न्यायालय ने गुरुवार को पूछा कि क्या उसने राष्ट्रीय राजधानी में किसी अवैध मसाज पार्लर को बंद किया है?

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मसाज पार्लर की आड़ में सेक्स रैकेट: हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस से पूछा- कुछ काम करिये, अब तक कितने पार्लर बंद हुए?

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. मसाज पार्लर की आड़ में धड़ल्ले से सेक्स रैकेट
  2. हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस से पूछा
  3. पीठ ने यह टिप्पणी पुलिस द्वारा दाखिल हालिया रिपोर्ट पर कही
नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस की खिंचाई करते हुए उच्च न्यायालय ने गुरुवार को पूछा कि क्या उसने राष्ट्रीय राजधानी में किसी अवैध मसाज पार्लर को बंद किया है? मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति सी हरिशंकर की पीठ ने दिल्ली पुलिस से कहा, ‘‘कुछ करिये. कुछ काम करिये. उसके बाद स्थिति रिपोर्ट दाखिल करें. अन्यथा कौन आपकी रिपोर्ट को पढ़ना चाहेगा.'' पीठ ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए यह बात कही जिसमें आरोप लगाया गया है कि मसाज पार्लर की आड़ में धड़ल्ले से सेक्स रैकेट चल रहे हैं.

सलमान खुर्शीद ने ली चुटकी, कहा- पीएम मोदी ने 'मेडिटेट' कहा होगा, ट्रंप ने सुन लिया 'मेडिएट'

पीठ ने यह टिप्पणी पुलिस द्वारा दाखिल हालिया रिपोर्ट पर नाखुशी जताते हुए की, जिसमें इस बात का संकेत नहीं दिया गया था कि क्या उसने शहर में चलने वाले किसी भी अवैध मसाज पार्लर को बंद किया है. अदालत ने कहा, ‘‘आपको यह बताना चाहिये था कि अब तक आपने लगभग तीन दर्जन इस तरह के मसाज पार्लर बंद किये हैं और ऐसे प्रतिष्ठानों का पानी और बिजली का कनेक्शन काट दिया गया है. यहां दर्जनों मसाज पार्लर होने चाहिये. क्या आप एक भी उदाहरण दे सकते हैं कि आपने किसी मसाज पार्लर को बंद किया है? आपके अधिकारी कहां हैं?''


क्रेडिट कार्ड का बिल नहीं चुका पाने से परेशान पिता ने बेटी के साथ बिल्डिंग से लगाई छलांग, पिता की मौत और बेटी...

पीठ ने कहा कि वह पुलिस का काम करने के लिये समितियां गठित नहीं कर सकती और इस बात की चेतावनी दी कि अगर उसे समिति गठित करनी पड़ी, तो वह एजेंसी के खिलाफ कड़ी टिप्पणी कर सकती है. पीठ ने पुलिस को सुनवाई की अगली तारीख 25 नवंबर तक एक रिपोर्ट दाखिल करने को कहा जिसमें इस तरह के पार्लर के खिलाफ की गई कार्रवाई के बारे में जानकारी देने को कहा गया है. पीठ नगर के रहने वाले अतीत बंसल की याचिका पर सुनवाई कर रही थी.

टिप्पणियां

(इनपुट भाषा से)

Video: कच्ची कॉलोनियों को पक्का करने के लिए तैयार है दिल्ली सरकार



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement