NDTV Khabar

जाट आंदोलन : धारा 144 लागू, मेट्रो पर असर, लुटियंस दिल्ली में सख्त निगरानी रखने का निर्णय

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जाट आंदोलन : धारा 144 लागू, मेट्रो पर असर, लुटियंस दिल्ली में सख्त निगरानी रखने का निर्णय

दिल्ली में लोगों का प्रवेश रोकने के लिए यह कदम उठाया जाएगा...

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने सोमवार से शुरू होने वाले जाट आंदोलन के मद्देनजर दिल्ली के कुछ इलाको में धारा 144 लगा दी गई है. इसका सीधा मतलब ये है दिल्ली में किसी भी जगह पर धरना प्रदर्शन की इजाजत नही होगी. जाटों ने कल से दिल्ली में ट्रॉली और ट्रैक्टर लाने का ऐलान किया है. इससे निपटने के लिए दिल्ली पुलिस ने दिल्ली की सुरक्षा चाक-चौबंद कर दी है और किसी को भी ट्रैक्टर और ट्रॉली लेकर दिल्ली की सीमा नें प्रवेश करने की इजाजत नही होगी. आंदोलनकारियों पर काबू पाने के लिए  एक लिहाज से दिल्ली की सीमा सील कर दी गई है. दिल्ली पुलिस ने साफ किया है अगर कोई कानून अपने हाथ में लेने की कोशिश करेगा उससे सख्ती से निपटा जाएगा.

जाट आंदोलन की वजह से डीएमआरसी ने एडवाइजरी जारी कर कहा है कि रविवार रात 11.30 बजे से अगले आदेश तक नोएडा, वैशाली, फरीदाबाद और गुड़गांव के मेट्रो स्टेशन बंद रहेंगे यानि दिल्ली के बाहर की सभी मेट्रो स्टेशन में मेट्रो रात 11.30 बजे के बाद नही चलेगी । इतना ही नही आज रात से ही रजीव चौक , मंडी हाउस , पटेल चौक,केन्द्रीय सचिवालय, उधोग भवन, लोक कल्याण मार्ग,बाराखंभा ,जनपथ , आर के आश्रम मार्ग , प्रगति मैदान मैदान, खान मार्केट और एयरपोर्ट लाइन का शिवाजी मार्ग मेट्रो स्टेशन बंद रहेंगे.  

टिप्पणियां
उधर हरियाणा के मुख्यमंत्री मोहन लाल खट्टर ने कहा है कि संवादहीनता की वजह से ऐसे हालात पैदा हुए हैं. खट्टर के मुताबिक सरकार की पहली कोशिस शांति व्यवस्था बनाए रखने की है. हम पूरा प्रयास करेंगे कि ये गलतफहमी दूर करें.


डीएमआरसी के एक अधिकारी ने बताया कि दिल्ली पुलिस के अनुरोध पर रविवार रात 11:30 बजे से मेट्रो का परिचालन सिर्फ दिल्ली शहर तक सीमित रहेगा. वहीं केन्द्रीय सचिवालय, पटेल चौक और राजीव चौक सहित मध्य दिल्ली के 12 स्टेशन रविवार रात 8 बजे से अग्रिम आदेश तक बंद रहेंगे. जाट आंदोलन के मद्देनजर कानून व्यवस्था की स्थिति को बरकरार रखने के लिए यह फैसला किया गया है. जाट समुदाय के लोगों को नौकरियों में आरक्षण देने की मांग को लेकर आंदोलनरत जाट आरक्षण संघर्ष समिति 20 मार्च को संसद का घेराव करने के साथ दिल्ली के प्रवेश मार्गों से जुड़े राजमार्गों पर चक्काजाम करेगी. अधिकारी ने बताया कि घेराव के बाद सुरक्षा व्यवस्था को लेकर दिल्ली पुलिस की हरी झंडी मिलने पर ही मेट्रो की सामान्य सेवा बहाल हो सकेगी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement