केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, जीबी पंत अस्‍पताल में दिल्‍लीवालों को मिलेगा 50% का आरक्षण

दिल्‍ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने बड़ा फैसला लिया. अब जीबी पंत अस्पताल में दिल्लीवालों को आरक्षण मिलेगा. इस अस्‍पताल में दिल्‍लीवालों को 50 फीसदी का आरक्षण मिलेगा.

केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, जीबी पंत अस्‍पताल में दिल्‍लीवालों को मिलेगा 50% का आरक्षण

केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, जीबी पंत अस्‍पताल में दिल्‍लीवालों को मिलेगा 50% का आरक्षण (फाइल फोटो)

खास बातें

  • जीबी पंत अस्‍पताल में 714 बेड हैं जिसमें से 357 बेड आरक्षित होंगे.
  • जीबी पंत अस्पताल दिल्ली सरकार का सुपर स्पेशलिटी अस्पताल है.
  • सड़क एक्सीडेंट पर भी दिल्‍ली सरकार नीति लेकर आने वाली है
नई दिल्ली:

दिल्‍ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने बड़ा फैसला लिया. अब जीबी पंत अस्पताल में दिल्लीवालों को आरक्षण मिलेगा. इस अस्‍पताल में दिल्‍लीवालों को 50 फीसदी का आरक्षण मिलेगा.जीबी पंत अस्‍पताल में  714 बेड हैं जिसमें से 357 बेड दिल्‍लीवालों के आरक्षित होंगे. जीबी पंत अस्पताल दिल्ली सरकार का सुपर स्पेशलिटी अस्पताल है. 

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने दी निजी स्कूलों को चेतावनी, कहा-मनमानी फीस बढ़ाने पर होगी कार्रवाई

आपको बता दें कि दिल्ली सरकार जल्द ही ऐसी नीति आने वाली है, जिसमें सड़क पर कोई एक्सीडेंट हुआ, तो पीड़ित के किसी भी प्राइवेट अस्पताल में भर्ती होने पर सारा खर्चा दिल्ली सरकार उठाएगी. दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने एक्सीडेंट विक्टिम पॉलिसी को मंजूरी दे दी है और इसको एलजी के पास मंजूरी के लिए भेजा जाएगा. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अभी तक होता ये है कि अगर सड़क पर दुर्घटना होती है तो पुलिस या दूसरे लोग पीड़ित को सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाते हैं, क्योंकि ये पता नहीं होता था कि पीड़ित शख्स निजी अस्पताल का खर्च दे पाने की हालत में है या नहीं. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने इसकी जानकारी देते हुए कहा था कि दिल्ली की सीमा में अगर किसी की भी सड़क पर कोई दुर्घटना होती है, चोट लगती है, कोई आग से जलता है या किसी पर तेजाब से हमला होता है, तो फिर वह शख्स देश के किसी भी हिस्से का निवासी हो, उसके इलाज का पूरा खर्च दिल्ली सरकार उठाएगी. सरकारी अस्पतालों में तो पहले से मुफ्त इलाज की सुविधा है, अब इसमें प्राइवेट हॉस्पिटल भी शामिल कर दिए गए हैं.

VIDEO: गुजरात में पीएम मोदी ने अरविंद केजरीवाल पर जमकर हमला बोला

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया था कि दिल्ली में हर साल करीब 8 हजार एक्सीडेंट होते हैं जिसमें 15-20 हजार लोग चोटिल होते हैं और करीब 1600 लोगों की जान चली जाती है.सत्येंद्र जैन ने कहा कि हम इसको एलजी के पास भेजेंगे और जल्द ही इसको मंजूरी मिलने की संभावना है.