NDTV Khabar

बुराड़ी कांड: 11 लोगों की मौत से एक घंटे पहले घर जाने वाले शख्‍स ने परिवार से की थी ये 'बात'

बुराड़ी के जिस घर में 11 लोगों की मौत हुई है उस घर में मौत से पहले ऋषि नाम का एक डिलीवरी बॉय 20 रोटियां देने गया था, जो उस घर में जाने वाला आखिरी इंसान है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बुराड़ी कांड: 11 लोगों की मौत से एक घंटे पहले घर जाने वाले शख्‍स ने परिवार से की थी ये 'बात'

दिल्‍ली के बुराड़ी में एक घर से मिली भाटिया परिवार की फैमिली की फाइल फोटो

खास बातें

  1. घर से एक और रजिस्टर मिला है
  2. घर में मौत से पहले ऋषि नाम का एक डिलीवरी बॉय 20 रोटियां देने गया था
  3. ऋषि उस घर में जाने वाला आखिरी इंसान है
नई दिल्ली:

दिल्ली के बुराड़ी में एक ही घर से मिले 11 शवों की गुत्थी अब भी एक पहेली बनी हुई है. मंगलवार को क्राइम ब्रांच ने एक बार फिर पूरे घर की तलाशी ली. घर से एक और रजिस्टर मिला है, जिससे पता चलता है कि ललित 2011 से अपने मृत पिता से सपने में बातचीत करता था, जिसे वो रजिस्टर में लिखता था. क्राइम ब्रांच के सीनियर अफ़सरों के मुताबिक, ललित अपने पूरे परिवार के साथ रोज़ाना दिन में तीन बार घर में ही एक विशेष पूजा करता था. ये पूजा सुबह 8 बजे, दोपहर 12 बजे और फिर रात 10 बजे होती थी. लंबे अरसे से घर में ये पूजा हो रही थी. पूरा परिवार ललित का अनुसरण करता था. वहीं बुराड़ी के जिस घर में 11 लोगों की मौत हुई है उस घर में मौत से पहले ऋषि नाम का एक डिलीवरी बॉय 20 रोटियां देने गया था, जो उस घर में जाने वाला आखिरी इंसान है. 

बुराड़ी कांड: 11 पाइपों को लेकर एक और खुलासा, रिश्तेदार सुजाता ने बताई यह वजह...

burariबुराड़ी में भाटिया परिवार के घर जाने वाला आखिरी शख्‍स डिलीवरी बॉय ऋषि

ऋषि ने एनडीटीवी को बताया कि जब वह रोटियां देने गया था तो परिवार के सदस्य सामान्य दिख रहे थे. ऋषि ने बताया कि घर के मंजर से उसे किसी तरह की आशंका नहीं हुई कि यहां इतनी बड़ी वारदात होने वाली है. करीब पौने ग्याहर बजे उसने घर में बीस रोटियों की डिलिवरी की. उसने बताया कि घर में सबकुछ नॉर्मल था.


बुराड़ी कांड: ललित के कहने पर परिवार के 10 लोगों ने दी जान, सबको लगता था 'पापा' आकर बचा लेंगे

ऋषि ने बताया कि जब वह उनके घर पहुंचा तो घर के बाहर उनकी दो लड़कियां और दो लड़के थे. 20 रोटियों का ऑर्डर उनकी बड़ी वाली लड़की ने दिया था. जब वह ऑर्डर लेकर घर पहुंचा तो उनकी बेटी ने अपने पापा से पैसे देने के लिए कहा. इसके बाद उन्‍होंने मुझे 200 रुपये दिए. इस दौरान उन्‍होंने मुझसे पूछा कि तुम पहले चावला हाउस में काम करते थे और अब वहां से तुमने नौकरी छोड़ दी है, तो मैंने कहा हां सर. ऋषि ने बताया कि वह शनिवार से पहले भी परिवार से मिला था. वह अपने रेस्‍टोरेंट के लिए सामान लेने के लिए उनकी परचून की दुकान से सामान लेने के लिए जाया करता था. 
 
बुराड़ी केस : 11 मौतें, हत्या या आत्महत्या के बीच उलझा मामला? जानें कब क्या हुआ

टिप्पणियां

आपको बता दें कि मृतकों की पहचान नारायण देवी (77), उनकी बेटी प्रतिभा (57) और दो बेटे भावनेश (50) और ललित भाटिया (45) के रूप में हुई है. भावनेश की पत्नी सविता (48) और उनके तीन बच्चे मीनू (23), निधि (25) और ध्रुव (15), ललित भाटिया की पत्नी टीना (42) और उनका 15 वर्ष का बेटा शिवम , प्रतिभा की बेटी प्रियंका (33) भी मृत मिले. प्रियंका की पिछले महीने ही सगाई हुई थी और इस साल के अंत तक उसकी शादी होनी थी.
 

संबंधित खबरें 
बुराड़ी कांड: रिश्तेदारों ने 'तंत्र-मंत्र' की बात को किया खारिज, कहा- अंधविश्वासी नहीं था परिवार, यह हत्या है  
बुराड़ी कांड : घर की दीवार पर लगे 11 पाइपों का क्‍या है राज़...? देखें, खुशहाल परिवार की अनदेखी तस्‍वीरें
बुराड़ी केस : हत्या या आत्महत्या? इन 5 सवालों में छिपा है राज
बुराड़ी केस : करीबी का दावा- ललित मौनव्रत पर नहीं आवाज चली गई थी, खुदकुशी की बात भी नकारी
बुराड़ी के घर से मिले 11 शव: 2 रजिस्‍टरों में सामने आए 10 चौंकाने वाले खुलासे, समय और दिन पहले से था तय
Delhi के बुराड़ी में 11 की मौत: प्रियंका की सगाई का वीडियो आया सामने, 10 बातें

VIDEO: बुराड़ी के उस घर में आखिरी बार जाने वाले ऋषि ने बताया घर में सबकुछ नॉर्मल था



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement