NDTV Khabar

दिल्ली के बवाना में पुलिस हिरासत में शख्स की संदिग्ध मौत, कांस्टेबल सस्पेंड

घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली के बवाना में पुलिस हिरासत में शख्स की संदिग्ध मौत, कांस्टेबल सस्पेंड

दिल्ली के बवाना में पुलिस हिरासत में युवक की मौत

नई दिल्ली:

दिल्ली के बवाना इलाके में एक शख्स की पुलिस हिरासत में संदिग्ध मौत का मामला सामने आया है. पुलिस ने मृतक की पहचान 55 वर्षीय बलराज सिंह के रूप में की है. घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. मृतक के परिजनों का आरोप है कि बलराज सिंह की मौत पुलिस द्वारा की गई पिटाई की वजह से हुई है. मामले की जानकारी मिलते ही वरिष्ठ अधिकारियों ने बवाना थाने के एक हेड कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया है जबकि एक एएसआई को लाइन हाजिर कर दिया है. फिलहाल इस पूरे मामले की जांच की जा रही है. 

राजस्थान: बस की चपेट में आने से विदेशी पर्यटक की मौत, चालक हिरासत में

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बलराज सिंह का लड़का हत्या के एक मामले में फरार चल रहा है, इसी सिलसिले में पुलिस बलराज से पूछताछ करना चाहती थी. इसी लिए उसे थाने बुलाया गया था. लेकिन रविवार देर रात खबर आयी कि बलराज की मौत हो चुकी है. घरवालों को पुलिस ने बताया कि बलराज ने थाने की इमारत से कूदकर खुदकुशी कर ली है. हालांकि बलराज के घरवालों पुलिस की इस बात को मानने को तैयार नहीं है. उनका कहना है कि आखिर बलराज बगैर किसी वजह के खुदकुशी क्यों करेंगे. पुलिस ने उनकी पीट पीट कर हत्या की है. अधिकारी ने बताया कि बलराज के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही यह तय हो पाएगा कि आखिर किस वजह से उसकी मौत हुई है.


दिल्ली: पुलिस हिरासत में शख्स की संदिग्ध हालात में मौत, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

गौरतलब है कि हिरासत में मौत का यह कोई पहला मामला नहीं है. इससे पहले दिल्ली के नारायण थाने में पुलिस कस्टडी में एक 54 साल के आरोपी की संदिग्ध हालात में मौत का मामला सामने आया था. हालांकि, पुलिस का कहना था कि आरोपी की पुलिस कस्टडी से भागने के चक्कर में उसकी मौत हुई है. पुलिस के मुताबिक, आरोपी दलबीर सिंह को 20 तारीख को चीटिंग समेत अन्य धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया था.

यह भी पढ़ें: इलाहाबाद में लॉ के छात्र को पीट-पीट कर मारने वाला मुख्य आरोपी सुल्तानपुर के दबंग नेता सोनू सिंह का करीबी

दलबीर पर दर्ज एफआईआर के मुताबिक, मृतक दलबीर सिंह दिल्ली कैंट स्थित आर्मी बेस अस्पताल से नकली प्रिस्क्रिप्शन और बिल के जरिए दवा लेने की कोशिश कर रहा था. शक होने पर जब उससे पूछताछ की तो वह भागने लगा. इसी बीच वहां पर मौजूद सिविल डॉक्टर से और आर्मी के जवानों ने उसे दौड़ाकर पकड़ा और उसके बाद से पुलिस को सूचना दी गई. उसके पास से चार डिपेंडेंट कार्ड बरामद हुए थे, जो की फ़र्ज़ी थे. पुलिस ने दलबीर को गिरफ्तार करने के बाद पटियाला हाउस कोर्ट पेश किया था, जहां से उसे को एक दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया था. पुलिस जब दलबीर को थाने लेकर आ गई तो दलबीर ने पानी पीने और पेशाब करने की इच्छा जाती. पुलिस कांस्टेबल प्रवेश दलबीर को थाने के दूसके फ्लोर पर ले गया, जहां मेस और टॉयलेट है. 

यह भी पढ़ें: 21 बार चाकू गोदकर और सिर पर ईंट मारकर की थी पत्नी की हत्या, मिली उम्रकैद की सजा

टिप्पणियां

पुलिस के मुताबिक, जैसे ही कांस्टेबल प्रवेश मेस में घुसा तो दलबीर ने मेस का दरवाजा बंद कर दिया और टॉयलेट में घुस गया, जहां से उसने भागने के चक्कर मे छलांग लगा दी. पुलिस थाने में दलबीर को ढूंढने लगी तो पुलिस को दलबीर थाने के पीछे ग्राउंड फ्लोर पर घायल अवस्था मे मिला. जिसके बाद उससे डीडीयू अस्पताल ले जाया गया. अस्पताल में डॉक्टरों ने दलबीर को मृतक घोषित कर दिया था. इस मामले में दलबीर के परिवार वाले पुलिस पर पैसे मांगने का आरोप लगा रहे था. उनका कहना था कि दलबीर को बेरहमी से पीटा गया है और फिर को दूसरे फ्लोर से फेंक दिया गया था.

VIDEO: इलाहाबाद : छात्र की हत्या करने वाला आरोपी दबंग नेता सोनू सिंह का करीबी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement