दिल्‍ली : ऑटो वाले और उसके बेटे की सूझबूझ से गलत हाथों में जाने से बची नाबालिग

16 दिसम्बर से ठीक एक दिन पहले एक ऑटो वाले और उसके बेटे की जागरूकता के चलते वक्त रहते नाबालिग बच्ची गलत हाथों में जाने से बच गई.

दिल्‍ली : ऑटो वाले और उसके बेटे की सूझबूझ से गलत हाथों में जाने से बची नाबालिग

पिता और बेटे ने सूझबूझ से लड़की को बचाया

नई दिल्‍ली:

15 दिसम्बर को राजधानी दिल्ली में एक ऑटो वाले और उसके बेटे की बहादुरी और जागरूकता के चलते एक नाबालिग लड़की गलत हाथों में जाने से बच गई. पुलिस के मुताबिक 17 साल की नाबालिग लड़की जिसके साथ उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में अलास्ट हुआ था, जिससे आहत होकर लड़की ट्रेन से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन आती है और एक ऑटो हायर कर पहले ऑटो से सारे मंदिर घूमती है. उसके बाद बंगाली मार्केट में खाना खाने ऑटो से जाती है. बंगाली मार्केट में ही ऑटो से उतरकर वहीं रुक जाती है जिसके बाद ऑटो वाला अपने घर चला जाता है. वहां वह अपने बेटे विजय, जो पेशे से होमगार्ड है, को लड़की की पूरी कहानी बताता है.

घर से बाहर खेल रही थी बच्ची, आरोपी ने झुग्गी के अंदर ले जाकर किया रेप

पिता पद्म पाल की बात सुन बेटा पिता को बोलता है कि लड़की को ऐसे अकेले छोड़कर आना गलत था. जिसके बाद दोनों बाप बेटे अपने ऑटो से उस नाबालिग लड़की की तलाश करने वापस बंगाली मार्केट पहुंच जाते हैं. काफी मशक्कत के बाद मंडी हाउस में लड़की रात करीब 9 बजे अकेले बैठी नजर आ जाती है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

दोनों बाप बेटा तुरन्त दिल्ली पुलिस को 100 नंबर पर कॉल करते हैं. जिसके बाद बाराखंभा थाने की पुलिस लड़की के पास पहुंचकर उसकी आपबीती सुनती है और फिर लड़की की काउंसलिंग करवा कर उसे निर्मल छाया में भेज दिया जाता है. 16 दिसम्बर से ठीक एक दिन पहले एक ऑटो वाले और उसके बेटे की जागरूकता के चलते वक्त रहते नाबालिग बच्ची गलत हाथों में जाने से बच गई.

VIDEO: दिल्ली के सरकारी स्कूल में नाबालिग छात्रा से रेप