NDTV Khabar

तीसरे दिन ऑड-ईवन फार्मूले का दिख रहा है असर, मुहिम को मिल रहा लोगों का समर्थन

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तीसरे दिन ऑड-ईवन फार्मूले का दिख रहा है असर, मुहिम को मिल रहा लोगों का समर्थन

सांकेतिक तस्वीर

नई दिल्ली: नए साल के पहले वर्किंग दिन में भी आज ऑड ईवन का नियम सफल दिख रहा है। आज ईवन नंबर की कारों की बारी है और सड़कों पर अधिकतर कारें ईवन नंबर की ही दिख रही हैं। हालांकि इक्का-दुक्का ऑड नंबर की कारें भी नज़र आ रही हैं, जिन पर कार्रवाई की जा रही है। सरकार की इस मुहिम को लोगों की ओर से समर्थन मिल रहा है और लोग कारों का नंबर देख कर ही इन्हें इस्तेमाल कर रहे हैं। दरअसल, दिल्ली में प्रदूषण को कम करने के लिए लागू किए गए ऑड ईवन फॉर्मूले का आज असली टेस्ट है, क्‍योंकि आज सभी दफ़्तर खुलेंगे।

हफ़्ते के शुरुआती दिनों में सड़कों पर ट्रैफ़िक भी ज़्यादा होता है। खासतौर पर पीक आवर में सड़कों पर लंबा जाम तक लग जाता है। लिहाजा, दिल्ली सरकार का कहना है कि उन्होंने इससे निपटने के लिए सारी तैयारियां की है।

दिल्ली के परिवहन मंत्री गोपाल राय का कहना है कि नियम का सही तरीके से पालन हो सके इसके लिए आज ज़्यादा पुलिस बल की तैनाती की गई है। यही नहीं डीटीसी बसों के फेरों को भी बढ़ाया गया है और ये बसें लगभग 64 लाख लोगों को आज सफर करा सकती हैं। जाम लगने की स्थिति में स्पेशल बसों का भी इंतज़ाम किया गया है। इसके अलावा मेट्रो के फ़ेरे भी बढ़ाए जाएंगे। गोपाल राय का कहना है कि मेट्रो में आम तौर पर एक दिन में 26 लाख सफर करते हैं जो बढ़कर आज 32 लाख के आसपास हो सकती है।

नियम का उल्लंघन करने वालों पर भी सख्त कार्रवाई की जाएगी। दिल्ली सरकार का कहना है कि वॉलंटियर्स को ख़ुफ़िया कैमरे दिए गए हैं जिससे वो उल्लंघन करने वालों की तस्वीरें ले सकेंगे। अब तक 567 लोगों के नियम न मानने पर चालान किए जा चुके हैं, जिनमें 348 ऑटो वाले शामिल हैं।

केजरीवाल भी कार पूल करके जाएंगे ऑफिस
सोमवार को चार तारीख है यानी ईवन नंबर। सोमवार को दिल्ली की सड़कों पर सिर्फ़ ईवन नंबर की गाड़ियों को चलने की इजाज़त है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गाड़ी का नंबर ऑड है, इसलिए वे परिवहन मंत्री गोपाल राय के साथ कार पूल करेंगे।

मुख्यमंत्री के अलावा सत्येंद्र जैन भी कार पूल कर सचिवालय जाएंगे। इधर दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया सोमवार को साइकिल से अपने दफ़्तर पहुंचेंगे। संस्कृति मंत्री कपिल मिश्रा बस से सचिवालय पहुंचेंगे तो पर्यावरण मंत्री इमरान हुसैन ई-रिक्शा से अपने दफ़्तर पहुंचेंगे।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement