दिल्ली सरकार के अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली के लोगों का ही होगा इलाज: अरविंद केजरीवाल

दिल्ली में बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच दिल्ली कैबिनेट ने फैसला लिया है कि दिल्ली सरकार और प्राइवेट अस्पतालों में केवल दिल्ली के निवासियों का इलाज होगा जबकि केंद्र सरकार के अस्पतालों में सभी का इलाज होगा.

नई दिल्ली:

दिल्ली में बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच दिल्ली कैबिनेट ने फैसला लिया है कि दिल्ली सरकार के और प्राइवेट अस्पतालों में केवल दिल्ली के निवासियों का इलाज होगा जबकि केंद्र सरकार के अस्पतालों में सभी का इलाज होगा. अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कांफ्रेंस कर इसकी जानकारी दी. उन्होंने बताया कि इसी के साथ इसी के साथ दिल्ली से बाहर के सभी लोगों के लिए बॉर्डर खोल दिए जाएंगे. उन्होंने बताया कि दिल्ली में बढ़ते मामलों के चलते फैसले लिया गया है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के अस्पतालों में देश भर के लोगों के इलाज हो सकेंगे. अरविंद केजरीवाल के अनुसार दिल्ली में जून के आखिरी तक 15 हजार बेड की जरूरत होगी, जबकि हमारे पास सिर्फ 10 हजार बेड हैं. ऐसे में अस्पतालों को सबके लिए खोला जाना संभव नहीं होगा. 

उन्होंने कहा कि मार्च के महीने तक दिल्ली के सारे अस्पताल पूरे देश के लोगों के लिए खुले रहे. किसी भी समय हमारे दिल्ली के अस्पतालों में 60 से 70 फ़ीसदी लोग दिल्ली से बाहर के थे लेकिन कोरोना के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं. ऐसे में आप की सरकार बेड का इंतजाम कर रही है. ऐसे में अगर दिल्ली के अस्पताल बाहर वालों के लिए खोल दिए तो दिल्ली वालों का क्या होगा. दिल्ली के 90 फ़ीसदी लोगों ने कहा कि जब तक को रोना है तब तक दिल्ली के अस्पतालों में सिर्फ दिल्लीवासियों का इलाज हो. उन्होंने बताया कि 5 डॉक्टर की एक कमेटी बनाई थी उसने अपनी रिपोर्ट दी है. कमेटी ने कहा है कि जून अंत तक दिल्ली को 15,000 बेड की ज़रूरत होगी. उनका यह कहना है कि फिलहाल दिल्ली के अस्पताल दिल्ली वासियों के लिए होने चाहिए बाहर वालों के लिए नहीं अगर बाहर वालों के लिए खोल दिया तो 3 दिन में सब बेड भर जाएंगे. 

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कल से दिल्ली में रेस्टॉरेन्ट मॉल धार्मिक स्थल खुल रहे हैं. केंद्र सरकार ने जो एहतियात बरतने के लिए कहा है वह सभी एहतियात बरतने जरूरी होंगे. हालांकि उन्होंने साफ कर दिया कि दिल्ली में होटल और बैंक्वेट हॉल नहीं खुलेंगे, उन्होंने कहा कि बढ़ते हुए कोरोना मामला देखते हुए आने वाले समय में होटल और बैंक्वेट हॉल को हॉस्पिटल के साथ अटैच करना पड़ सकता है. उन्होंने बुजुर्गों से अपील करते हुए कहा कि सभी बुजुर्गों से हाथ जोड़कर विनती कि आप यह मानकर चलें कि आपके लिए लॉक डाउन अभी भी लागू है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बता दें कि दिल्ली में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. कोविड-19 संक्रमितों का आंकड़ा 27 हजार के पार हो गया हैं. शनिवार शाम को जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में यहां 1320 नए मरीज सामने आए जिसके बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 27654 हो गई जबकि पिछले 24 घंटों में 349 मरीज़ ठीक हुए हैं. ठीक होने वालों का आंकड़ा 10,664 हो गया है. पिछले चौबीस घंटों में दिल्ली में कोई मौत नहीं हुई लेकिन 25 मई से 5 जून के बीच 53 मौतों की लेट रिपोर्टिंग हुई जिसके बाद अब कुल मौत का आंकड़ा 708 से बढ़कर 761 हो गया है.

Video: भारत में कोरोनावायरस के मामले 2-3 महीने में चरम पर हो सकते हैं : एम्स प्रमुख