PDS कार्डधारकों को नवंबर तक मुफ़्त राशन देगी दिल्ली सरकार, जुलाई में इस तारीख से शुरू होगा वितरण

दिल्ली में 17.54 लाख से अधिक परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा. इसमें 68,465 अंत्योदय अन्न योजना (एएवाई) वाले परिवार भी शामिल हैं

PDS कार्डधारकों को नवंबर तक मुफ़्त राशन देगी दिल्ली सरकार, जुलाई में इस तारीख से शुरू होगा वितरण

सरकार ने राशन दुकानों में सोशल डिस्टेंसिंग जैसे मानदंडों का पालन हो इसकी भी तैयारी की है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

महामारी के कारण आर्थिक तंगी से जूझ रहे लोगों को राहत दिलाने के लिए केजरीवाल सरकार ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के लाभार्थियों को मुफ्त राशन की आपूर्ति आगे भी जारी रखने का फैसला किया है. दिल्ली सरकार राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFS) के लाभार्थियों को अगले 5 महीनों तक यानी जुलाई से  नवंबर 2020 तक मुफ्त पीडीएस राशन उपलब्ध कराएगी. जुलाई 2020 माह के लिए राशन का वितरण 8 जुलाई 2020 से चरणबद्ध तरीके से शुरू किया जाएगा. अभी पीडीएस द्वारा 17.54 लाख से अधिक गृह इकाइयों के 71,40,938 लाभार्थियों को रियायती दरों पर राशन मुहैया कराया जाता है. जिसमें 68,465 अंत्योदय अन्न योजना (एएवाई) वाले परिवार भी शामिल हैं. आपको बता दें कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFS) के लाभार्थियों को हर महीने 5 किलोग्राम राशन प्रदान किया जाता है, जिसमें 4 किलोग्राम गेहूं और 1 किलो चावल शामिल हैं. अंत्योदय अन्न योजना (एएवाई) श्रेणी के तहत खाद्यानों की प्रति परिवार नियमित पात्रता 25 किलोग्राम गेहूं, 10 किलो चावल  और 1 किलो चीनी की है.

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत 2 रुपये प्रति किलोग्राम गेहूं व 3 रुपये प्रति किलोग्राम चावल रियायती दर पर प्रदान किया जाता है, परन्तु दिल्ली सरकार ने कोरोना महामारी के कारण हुई आर्थिक तंगी को देखते हुए लाभार्थिओं को नवम्बर तक मुफ्त राशन देने का निर्णय लिया है.

खाद्य मंत्री इमरान हुसैन ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक भी की और उन्हें वितरण की प्रभावी निगरानी करने का निर्देश दिया है  इमरान हुसैन ने कहा  कि COVID- 19 महामारी के कारण पूर्ण लॉकडाउन के दौरान और लॉकडाउन के प्रतिबंधों को हटाने के बाद भी खाद्य और आपूर्ति विभाग ने NFS लाभार्थियों सहित शहर के गरीब और कमजोर वर्गों की खाद्य आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए सभी कदम सफलतापूर्वक उठाए गए हैं. दिल्ली सरकार ने अप्रैल, 2020 से जून, 2020 के महीनों में भी एनएफएस लाभार्थियों को मुफ्त राशन प्रदान किया था.

'जनता जागरूक रहे, कोई राशन के बदले पैसे ले तो शिकायत करें'
खाद्य मंत्री इमरान हुसैन ने राशन लाभार्थियों को जागरूक रहने का आह्वान किया है, किसी भी लाभार्थी को राशन के लिए कुछ भी भुगतान करने की आवशयकता नहीं है. यदि लाभार्थियों को राशन दुकानों पर राशन मुफ्त में प्राप्त करने में किसी भी समस्या का सामना करना पड़ता है, तो वे तत्काल इसकी शिकायत खाद्य विभाग के अधिकारियों से कर सकते हैं. 

कोरोना काल में बरतें सावधानी
खाद्य मंत्री इमरान हुसैन ने बताया कि  सरकार ने राशन दुकानों में प्रभावी प्रबंधन, सोशल डिस्टेंसिंग जैसे मानदंडों और राशन के वितरण को सुनिश्चित करने के लिए नागरिक सुरक्षा स्वयं सेवकों (civil defence volunteers) को तैनात किया है. साथ ही मंत्रियों सहित क्षेत्र के विधायक भी समय-समय पर राशन दुकानों का निरीक्षण कर रहे हैं, ताकि कर्मचारियों को प्रेरित किया जा सके और निर्बाध वितरण सुनिश्चित किया जा सके.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Video: दिल्ली में कोरोना से लड़ने के लिए 1000 बेड का अस्पताल 12 दिन में तैयार