NDTV Khabar

पत्रकारों के खिलाफ बढ़ रही हिंसा के विरोध में कई शहरों में निकाला गया शांति मार्च

इस विरोध मार्च में पत्रकारों ने बड़े पैमाने पर शामिल होकर लगातार मीडिया कर्मियों पर हो रहे हमलों पर चिंता व्यक्त की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पत्रकारों के खिलाफ बढ़ रही हिंसा के विरोध में कई शहरों में निकाला गया शांति मार्च

अरुणाचल में पत्रकारों के खिलाफ हिंसा के विरोध में शांति मार्च

नई दिल्‍ली:

गांधी जयंती के अवसर पर देश के कई बड़े शहरों में पत्रकारों पर बढ़ते जानलेवा हमले, हत्या, हिंसा और उन्हें मिल रही धमकियों के विरोध में शांति मार्च निकला गया. दिल्‍ली के अलावा गोरखपुर, चेन्‍नई और अरुणाचल प्रदेश में भी पत्रकारों ने शांति मार्च निकाला. इस सिलसिले में जगह जगह संगोष्ठियों के साथ मानवश्रृंखला बनाकर विरोध दर्शाया गया. दिल्ली में ये कार्यक्रम प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया, फेडरेशन ऑफ़ प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया, आईडब्लूपीसी, प्रेस एसोसिएशन, केरला यूनियन ऑफ़ वर्किंग जर्नलिस्ट और इंडियन जर्नलिस्ट यूनियन के तत्वावधान में पत्रकारों ने काली पट्टी हांथ में बांध कर शांति मार्च निकाल कर विरोध जताया.

इस विरोध मार्च में पत्रकारों ने बड़े पैमाने पर शामिल होकर लगातार मीडिया कर्मियों पर हो रहे हमलों पर चिंता व्यक्त की. सांकेतिक विरोध के जरिये ये संदेश देने की कोशिश की गयी कि अहिंसा के देश में पत्रकारों पर हो रहे हमलों को अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. इस शांतिपूर्ण मार्च से इस बात को उजागर करने की कोशिश की गयी कि किस तरह से पत्रकारों खास तौर पर महिला पत्रकारों को निशाना बनाया जा रहा है. ऑनलाइन फोरम पर अपने विचारों को व्यक्त करना पत्रकारों के लिए गंभीर खतरा बनता जा रहा है. उन्हें खुलेआम और ढके छुपे अंदाज़ में शारीरिक क्षति पहुंचाने की धमकी दी जाती है, अलग विचार व्यक्त करना पत्रकारों के लिए असहाय होता जा रहा है.


टिप्पणियां

शांतिपूर्ण विरोध के द्वारा ये भी मांग की गई कि पत्रकारिता की आज़ादी और विचारों के विरोध व्यक्त करने की आज़ादी का हर हाल में सम्मान और उसकी रक्षा की जाय ताकि देश के धर्मनिरपेक्ष ढांचे को सुरक्षित रखा जा सके. इस मामले में एक ज्ञापन केंद्रीय गृहमंत्री को 5 अक्‍टूबर को सौंप कर ये मांग की जाएगी कि विभिन राज्यों में पत्रकारों की हत्या और हमला करने वालों के खिलाफ सरकार सख्त क़दम उठाये.

VIDEO: पहले भी हुआ है कई आज़ाद आवाजों का कत्ल



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement