NDTV Khabar

दिल्ली में प्रदूषण में कमी, 'आपात' उपायों को हटा सकता है ईपीसीए

दिल्ली में हवा की गुणवत्ता बुधवार को 'अत्यंत गंभीर' श्रेणी से बाहर रही और यही रुख गुरुवार को भी बरकरार रहा तो निर्माण और ट्रकों के प्रवेश पर रोक जैसे आपात उपाय हटाए जा सकते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली में प्रदूषण में कमी, 'आपात' उपायों को हटा सकता है ईपीसीए

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

दिल्ली में हवा की गुणवत्ता बुधवार को 'अत्यंत गंभीर' श्रेणी से बाहर रही और यही रुख गुरुवार को भी बरकरार रहा तो निर्माण और ट्रकों के प्रवेश पर रोक जैसे आपात उपाय हटाए जा सकते हैं. सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्त पर्यावरण प्रदूषण (रोकथाम और नियंत्रण) प्राधिकरण (ईपीसीए) ने बुधवार को कहा कि यदि प्रदूषण नियंत्रण में रहता है तो वह ‘अत्यंत गंभीर’ श्रेणी या श्रेणीबद्ध प्रतिक्रिया कार्य योजना की आपातकालीन श्रेणी के तहत किए गए उपाय वापस ले सकता है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) का 24 घंटे का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 361 था जो कि ‘बहुत खराब’ श्रेणी में आता है. इससे पता चलता है कि इसमें मंगलवार के मुकाबले मामूली गिरावट आई है. एक प्रमुख घटनाक्रम के तहत केंद्र ने अल्ट्रा क्लीन यूरो- छह ग्रेड पेट्रोल और डीजल राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अप्रैल 2018 में लाने की घोषणा की.

यह भी पढ़ें : पर्यावरण सेस से मिले 787 करोड़ रुपये, दिल्‍ली सरकार खरीदेगी इलेक्ट्रिक बस


वायु की गुणवत्ता आपात स्थिति से बाहर रहने के बावजूद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने चंडीगढ़ में मुलाकात की और हाल में छायी धुंध जैसी स्थिति 2018 में नहीं हो इसके लिए सतत प्रयास का संकल्प लिया. पीएम 2.5 और पीएम 10 के स्तर पर नजर रखने वाले सेंट्रल कंट्रोल रूम फॉर एयर क्वालिटी मैनेजमेंट के प्रति घंटा-ग्राफ में भी गिरावट का रुख दर्ज किया गया. शाम 7 बजे पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर क्रमश: 198 और 307 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर दर्ज किया गया. केंद्र संचालित निगरानी एजेंसी एसएएफएआर के अनुसार वायु गुणवत्ता सुधर रही है, क्योंकि तेज सतही हवाओं से प्रदूषक छंट रहे हैं. इस बीच दिल्ली दमकल विभाग ने दोपहर में करीब एक घंटे आईटीओ स्थित 22 मंजिला विकास मिनार से पानी का छिड़काव किया.

टिप्पणियां

VIDEO : दिल्ली में तय समय से पहले BS-VI ईंधन लाने का फ़ैसला
दिल्ली दमकल विभाग के एक अधिकारी ने कहा, 'पानी छिड़काव के पहले और बाद में दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति ने प्रदूषण के स्तरों का मापन किया. इस संबंध में रिपोर्ट गुरुवार को एनजीटी को सौंपी जाएगी.'

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement