NDTV Khabar

दिल्ली की रामलीला: असल जिंदगी में तीन सगे भाई कर रहे 'लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न' का किरदार

दिल्ली की रामलीलाओं के रंग देखते ही बनते हैं. गुरुवार की रात सीताहरण और लंकादहन के साथ रामलीला का मंचन अपने अहम मोड़ पर है. इस बार की रामलीलाओं में पर्यावरण और स्वच्छ्ता जैसे मुद्दों का भी ध्यान रखा जा रहा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली की रामलीला: असल जिंदगी में तीन सगे भाई कर रहे 'लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न' का किरदार

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

दिल्ली की रामलीलाओं के रंग देखते ही बनते हैं. गुरुवार की रात सीताहरण और लंकादहन के साथ रामलीला का मंचन अपने अहम मोड़ पर है. इस बार की रामलीलाओं में पर्यावरण और स्वच्छ्ता जैसे मुद्दों का भी ध्यान रखा जा रहा है. हर रोज की तरह गुरुवार रामलीला की शुरुआत शोभायात्रा से हुई. भगवान राम, लक्ष्मण और सीता की रथ पर सवारी निकली तो हर कोई देखता रह गया. शोभायात्रा के बाद मंच पर आयी सूर्पनखा अपनी कटी नाक के साथ विलाप करने लगी. ये सुनकर उसका भाई रावण तिलमिला गया और उसने नाक काटने वाले लक्ष्मण से बदला लेने की ठान ली.

रामलीला में भी घुसा NRC, मनोज तिवारी बोले- ये सब विदेशी घुसपैठिये हैं या...?

इसके बाद वन में सीता को अकेला पाकर उनका अपहरण कर लंका ले गया. सीता का किरदार निभा रहीं सपना दिल्ली विश्वविद्यालय से इंग्लिश ऑनर्स हैं. उनकी मां चांदनी उनके साथ मंदोदरी का रोल कर रहीं हैं. उनका कहना है कि दिल्ली में जिस तरह से महिलाओं असुरक्षित हैं उनका कहना है कि लोग रावण नहीं राम बनें.


सीता का किरदार निभाने वाली सपना ने कहा, ''बहुत रावण हो गए हैं, मैं चाहती हूं सब राम बने ,रावण नहीं.'' इसी बीच मंच पर नेताओं के आना जाना चलता रहा और रामलीला के कलाकारों को भी बीच-बीच में ब्रेक लेना पड़ा. लाल किले पर इस नव धार्मिक रामलीला कमेटी में लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न बने ये तीनों भाई असल ज़िंदगी में भी सगे भाई हैं और इनके असली नाम है कृष्णा, शिवम और शुभम हैं.

लक्ष्मण का किरदार कर रहे कृष्णा ने कहा, ''देखिए हम असल जिंदगी में भी भाई हैं, इसलिए हमें भाई के ये किरदार करने में कोई परेशानी नहीं होती है.'' मुजीबुर्रहमान पहले कुंभकरण बनते थे अब मेधनाद बनकर गरज रहे हैं. कहते हैं वो पिछले 3 सालों से रामलीला में अपने किरदारों को बखूबी निभा रहे हैं. कभी धर्म का बंधन आड़े नहीं आया, साथियों से खूब सहयोग मिला.

अब आधी रात तक रामलीला में बजा सकते हैं 'लाउडस्पीकर', दिल्ली सरकार ने किया ऐलान

मेधनाद के किरदार में मुजीबुर्रहमान ने कहा, ''मुझे अपने किरदार में बहुत मज़ा आ रहा है. पूरा एन्जॉय कर रहा हूं. मैं कई सालों से रामलीला में अलग-अलग किरदार कर रहा हूं.''

रामलीला में प्लास्टिक का प्रयोग न के बराबर है. अगर कोई प्लास्टिक की बोतल प्रयोग करता है तो उनके लिए रीसायकल मशीने भी लगीं हैं. मशीन में बोतल डालते ही 5 रुपये का खाने का कूपन मिलेगा. मंच से भी कलाकर पर्यावरण और स्वच्छता को लेकर लोगों को जागरूक कर रहे हैं.

रामलीला मैदान से PM मोदी का AAP पर हमला, कहा- इन 'नाकाम-पंथियों' ने आम आदमी की छवि को बदनाम किया

टिप्पणियां

नव धार्मिक राम लीला कमेटी के चेयरमैन बलराम गर्ग ने कहा, ''हमने पर्यावरण का पूरा ध्यान रखा हुआ है. प्लास्टिक के रीसायकल की मशीनें भी लगाई हैं.'' लंका दहन के साथ गुरुवार की रामलीला का आयोजन खत्म हुआ. चिंता रावण दहन की है कि कौन से पटाखों से दहन किया जाएगा. ग्रीन पटाखे अभी मिल नहीं रहे और सामान्य पटाखे प्रयोग कर नहीं सकते. नव रामलीला धार्मिक कमेटी के संयोजक राहुल ने कहा, ''देखिए रावण दहन के लिए हम ग्रीन पटाखे ही इस्तेमाल करेंगे उसकी व्यवस्था कर रहे हैं.''

Video: रामलीला में भी घुसा NRC, मनोज तिवारी बोले- ये सब विदेशी घुसपैठिये हैं...



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... सलमान खान को देखकर सारा अली खान ने किया 'आदाब' तो भाईजान ने लगाया गले- देखें Video

Advertisement