सत्येंद्र जैन ने बताया क्यों नर्सिंग होम्स को कोविड सेंटर बनाए जाने के फैसले को वापस लिया?

रविवार को अमित शाह बैठक के साथ हुई बैठक पर सत्येंद्र जैन ने कहा कि कल की मीटिंग काफी अच्छी रही और कोरोना के खिलाफ दिल्ली और केंद्र सरकार मिलकर काम करेगी.

सत्येंद्र जैन ने बताया क्यों नर्सिंग होम्स को कोविड सेंटर बनाए जाने के फैसले को वापस लिया?

दिल्ली में कम्युनिटी स्प्रेड हुआ है या नहीं इसकी तकनीक में जाने की जरूरत नहीं: जैन

नई दिल्ली:

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने सोमवार को बताया कि दिल्ली में कोरोना संक्रंमितों की संख्या 41182 हो गई है जिसमें से 2224 मामले नए हैं. रविवार को अमित शाह बैठक के साथ हुई बैठक पर सत्येंद्र जैन ने कहा कि कल की मीटिंग काफी अच्छी रही और कोरोना के खिलाफ दिल्ली और केंद्र सरकार मिलकर काम करेगी. उन्होंने बताया कि दिल्ली में टेस्टिंग की सुविधा बढ़ी है, जल्द ही इसे और बढ़ाया जाएगा. उन्होंने कहा कि अब केंद्र का सहयोग मिल रहा है तो ज्यादा टेस्ट करेंगे. सत्येंद्र जैन के मुताबिक दिल्ली में देश के सबसे ज्यादा टेस्ट किए जा रहे थे. 

नर्सिंग होम के आदेश को वापस लिए जाने के मामले पर चर्चा करते हुए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि नर्सिंग होम का आदेश इसलिए वापस लिए गया है क्योंकि डेंगू मलेरिया का टाइम आने वाला है, ऐसे में हो सकता है कि इनकी जरूरत पड़ेगी. लिहाजा फैसले को वापस लिया जाएगा. मानसून की तैयारियों की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया पूरी दिल्ली डिसिल्टिंग का काम तेजी से हो रहा है. वहीं  MCD अस्पताल को कोविड अस्पताल बनाए जाने पर उन्होंने खुशी जताते हुए कहा कि हमें विश्वास था कि कोविड के खिलाफ हम मिलकर लड़ेंगे. 

सत्येंद्र जैन ने कहा कि इस बात की तकनीक में जाने की जरूर नहीं है कि दिल्ली में कम्युनिटी स्प्रेड है य़ा नहीं. हालांकि उन्होंने माना कि दिल्ली में कोरोना के मरीज अन्य जगहों के मुकाबले ज्यादा हैं. उन्होंने कहा कि यह बड़े शहरों में ज्यादा फैलता है. वहीं दिल्ली में मास्क की पाबंदी या थूकने पर जुर्माना लगाने के सवाल पर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कई लोगों को लगता है कि इसकी जरूरत नहीं है, जब तक लोगों पर पेनाल्टी नहीं लगाई जाएगी तब तक कंट्रोल नहीं किया जा सकता है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com