NDTV Khabar

दिल्ली में गैंगवार में हुई 35 राउंड फायरिंग, जानिए इसके पीछे की कहानी...

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली में गैंगवार में हुई 35 राउंड फायरिंग, जानिए इसके पीछे की कहानी...
नई दिल्‍ली: दिल्ली के मियांवाली नगर में 35 राउंड से ज्यादा फायरिंग हुई. 13 गोलियां तो केवल गैंगस्टर भूपेंद्र उर्फ मोनू की कार पर चलायी गयीं. इस हमले में 3 लोगों की मौत हो गई जिसमें एक पुलिसकर्मी है. हमलावर एक कार और 2 बाइक पर सवार होकर आए थे. अब पुलिस इस फायरिंग के पीछे की वजह और हमलावरों को तलाश रही है. हो सकता की ये हमला भूपेंद्र के अतीत के किसी पहलू से जुड़ा हो. दरअसल किसी जमाने में बाहरी दिल्ली के दरियावपुर गांव के 2 बड़े अपराधी दोस्त हुआ करते थे. एक भूपेंद्र और दूसरा सोनू सत्यवान. लेकिन 2006 दोनों की दोस्ती तब टूट गयी जब में भूपेंद्र ने सोनू की बुआ की लड़की से शादी कर ली. इससे नाराज सोनू ने 2006 में ही पंजाबी बाग इलाके में भूपेंद्र और उसकी पत्नी राज पर हमला करवा दिया.

टिप्पणियां
इस हमले में भूपेंद्र और उसकी पत्नी को कई गोलियां लगीं लेकिन दोनों बच गए, लेकिन भूपेंद्र का एक साथी मारा गया. इस मामले में सोनू समेत 11 लोगों को दोषी करार दिया गया. वहीं हमले के बाद कोर्ट के आदेश पर भूपेंद्र और उसकी पत्नी को सुरक्षा मिल गयी. वहीं 2008 में पैरोल मिलते ही सोनू जेल से बाहर आया और भूपेंद्र के भाई की हत्या कर दी. पुलिस को शक है कि कहीं हत्या सोनू और उसके गैंग न की हो. सोनू पर 1 लाख का इनाम घोषित है और वो अब भी फरार है. हालांकि भूपेंद्र पर भी हत्या की कोशिश और ज़मीनों के कब्जों जैसे 8 मामले में दर्ज हैं.

वो अपने गांव से आकर पश्चिम विहार इलाके में रहने लगा था. आरोप है कि जिस घर में वो रह रहा था वो भी कब्ज़े का है. इसलिए पुलिस को ये भी शक है कि हत्या के पीछे कोई प्रॉपर्टी विवाद न हो. भूपेंद्र हथियारों, नई नई कारों, गाना गाने और डांस करने का शौकीन था. उसने अपने तमाम वीडियो यूट्यूब और फ़ेसबुक पर डाले हैं. अब पुलिस उसकी ज़िंदगी से जुड़े हर पहलू को ध्यान में रखकर जांच कर रही है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement