दिल्ली: बाइक पार्किंग को लेकर शुरू हुए विवाद ने लिया सांप्रदायिक रंग, अभी तक तीन गिरफ्तार

पुलिस के अनुसार कुछ लोगों ने एक मंदिर पर पथराव और तोड़फोड़ की है. इस पूरे मामले को लेकर अभी तक तीन लोगों की गिरफ्तारी की गई है.

खास बातें

  • रविवार रात बाइक पार्किंग को लेकर शुरू हुआ था विवाद
  • पुलिस ने अभी तक तीन लोगों को किया गिरफ्तार
  • चांदनी चौक के सांसद हर्षवर्धन ने किया इलाके का दौरा
नई दिल्ली:

पुरानी दिल्ली के हौज काजी (Hauz Qazi) इलाके में पार्किंग को लेकर शुरू हुआ विवाद अब सांप्रदायिक रंग ले रहा है. मंगलवार रात से शुरू हुआ यह विवाद अब दो समुदाय के बीच आपसी झड़प का रूप ले चुका है. पुलिस (Delhi Police) के अनुसार कुछ लोगों ने एक मंदिर पर पथराव और तोड़फोड़ की है. इस पूरे मामले को लेकर अभी तक तीन लोगों की गिरफ्तारी की गई है. गिरफ्तार आरोपियों पर इलाके में दंगा भड़काने का आरोप है. दो गुटों के बीच बढ़ते तनाव के बीच चांदनी चौक के सांसद हर्षवर्धन ने मंगलवार की सुबह इलाके का दौरा किया. इलाके का दौरा करने के बाद हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) ने कहा कि इस तरह की घटना दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद है. मंदिर में जिस तरह की चीजें की गई हैं वह माफ करने योग्य नहीं है. मुझे बताया गया है कि पुलिस (Delhi Police) आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है. आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा. मैं इलाके में रहने वाले सभी लोगों से अपील करता हूं कि वह आपसी सौहार्द्र बनाए रखें. बता दें दो गुटों में आपसी झड़प के बाद फिलहाल इलाके में सुरक्षा व्यवस्था चाकचौबंद है. पुलिस ने इस घटना को तीन एफआईआर की है. दो एफआईआर दोनों तरफ से एक दूसरे के खिलाफ कराई गई है जबकि तीसरी एफआईआर मंदिर में तोड़फोड़ करने वालों के खिलाफ की गई है. 

असम के हैलाकांडी शहर में साम्प्रदायिक झड़पों एक व्यक्ति की मौत, 14 घायल, कर्फ्यू लागू

मध्य दिल्ली पुलिस के डीसीपी मनदीप सिंह रंधावा ने इस घटना को लेकर ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि हौज काजी में पार्किंग विवाद को लेकर दो गुटों के बीच हुई आपसी झड़प के बाद इलाके में तनाव का माहौल है. हमनें इलाके में शांति बहाल करने के लिए आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की है. आम जनता से अनुरोध है कि वह स्थिति को समान्य करने में हमारी मदद करें. 

बिहार : केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत की अग्रिम जमानत की याचिका खारिज

मिली जानकारी के अनुसार रविवार रात 10.30 बजे फल बेचने वाले संजीव गुप्ता और आस मोहम्मद के बीच बाइक खड़ी करने को लेकर कहा सुनी हो गई. इसके बाद आस मोहम्मद मौके से चला गया, लेकिन कुछ समय बाद वह अपने अन्य साथियों के साथ आया और संजीव गुप्ता के घर पर हमला कर दिया. इसके बाद संजीव गुप्ता ने अपने घर पर हुए हमले की जानकारी पुलिस को दी. इसके बाद पुलिस ने दोनों ही पक्ष को पूछताछ के लिए बुलाया गया. थाने में दोनों से पूछताछ हो ही रही थी कि इसी दौरान थाने के बाहर बड़ी संख्या में लोग जमा हो गए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मैंगलुरु : साम्प्रदायिक हिंसा के शिकार बने बशीर की मौत, 4 लोगों ने चौक पर किया था हमला

इसके बाद यही लोग पास की एक मंदिर में गए और वहां तोड़फोड़ की. भीड़ में शामिल कुछ लोगों ने मंदिर में रखी मूर्तियों के साथ भी तोड़फोड़ की. इसके बाद ही इलाके में सांप्रदायिक हिंसा शुरू हो गई. सोमवार को दोनों ही समुदाय के लोगों ने प्रदर्शन किया और कार्रवाई की मांग की.हंगामा को बढ़ता देख पुलिस ने तीन एफआईआर की है. पुलिस फिलहाल पूरे मामले की जांच कर रही है.