NDTV Khabar

बेरोजगारी से निपटने के लिए दिल्ली सरकार उठाएगी यह कदम, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने की घोषणा

दिल्ली सरकार (Delhi Govt) छात्रो को उद्यमी बनने को लेकर प्रेरित करने के लिए अगले शैक्षाणिक सत्र से स्कूलों में विशेष पाठ्यक्रम शुरू करेगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बेरोजगारी से निपटने के लिए दिल्ली सरकार उठाएगी यह कदम, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने की घोषणा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली सरकार (Delhi Govt) छात्रो को उद्यमी बनने को लेकर प्रेरित करने के लिए अगले शैक्षाणिक सत्र से स्कूलों में विशेष पाठ्यक्रम शुरू करेगी. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा कि छात्रों को उद्यमी बनने को लेकर प्रेरित करने के लिए सरकार यह कदम उठा रही है. सिसोदिया ने कहा कि छात्रों को नौकरी देने वाला बनना चाहिए और यह पाठ्यक्रम उन्हें कॉलेज की पढ़ाई से पहले प्रशिक्षित करेगा. इंदिरा गांधी दिल्ली प्रौद्योगिकी महिला विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में उन्होंने कहा, 'हमने सरकारी स्कूलों में खुशहाली पर एक विषय की शुरुआत की थी. अब हम माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक के छात्रों के लिए अगले सत्र से उद्यमशीलता पर पाठ्यक्रम शुरू करेंगे.'
 


दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, 'हमारे छात्रों को अच्छी नौकरी तो मिल रही है, लेकिन अगर हर कोई नौकरी लेगा तो देने वाला कौन होगा? इसलिए दिल्ली सरकार ने तय किया है कि सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी के स्कूल में अब रोजाना एक पीरियड #EntrepreneurshipCurriculum का होगा. 

यह भी पढ़ें: Delhi: दिल्ली सरकार ने तय किया बैग का वजन, बच्चों के कंधों पर अब नहीं होगा बस्ते का बोझ


उन्होंने कहा, 'ऐसे समारोह (दीक्षांत) में हमें उन छात्रों की भी तारीफ करनी चाहिए जिन्होंने नौकरी नहीं ली और इसकी बजाए दूसरों को नौकरी प्रदान की. देशभक्ति की परिभाषा में नौकरी देने वालों को भी शामिल करना चाहिए. दीक्षांत समारोह में करीब 1100 छात्राओं को डिग्री प्रदान की गई.

यह भी पढ़ें:  दिल्ली के एक स्कूल में शिक्षक को छात्र से मालिश कराना पड़ा महंगा, विभाग ने किया निलंबित

टिप्पणियां

दिल्ली के उपराज्यपाल और विश्वविद्यालय के कुलाधिपति अनिल बैजल ने छात्राओं को बधाई दी और सुझाव दिया कि उद्यम की शुरुआत के वक्त सरकार से उन्हें समर्थन मिलना चाहिए. 'मेट्रोमैन' के नाम से मशहूर ई. श्रीधरन समारोह के मुख्य अतथि थे. उन्होंने कहा कि देश का भविष्य इंजीनियरों और तकनीकी कर्मियों के हाथों में है, नेताओं के हाथ में नहीं.

VIDEO:  दिल्ली के स्कूल में ये कैसी पढ़ाई?
(इनपुट: भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement