यूजीसी नेट परीक्षा साल में एक ही बार कराए जाने के विरोध में छात्रों ने किया प्रदर्शन

सीबीएसई ने जून में सर्कुलर जारी कर UGC-NET जूनियर रिसर्च फेलोशिप एंड एलिजिबिलिटी फॉर असिस्‍टेंट प्रोफेसर के लिए 19 नवंबर 2017 की तारीख दी है.

यूजीसी नेट परीक्षा साल में एक ही बार कराए जाने के विरोध में छात्रों ने किया प्रदर्शन

विरोध में बुधवार को छात्रों ने यूजीसी के सामने प्रदर्शन किया

नई दिल्‍ली:

यूजीसी-नेट की परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए चिंता की खबर है. छात्रों को अब साल में दो बार की जगह सिर्फ एक बार ही परीक्षा में बैठने का मौका मिल सकेगा. ऐसे में जुलाई में यूजीसी-नेट की परीक्षा देने की सोच रहे छात्र परीक्षा नहीं दे पाएंगे. इस निर्णय के विरोध में बुधवार को छात्रों ने यूजीसी के सामने प्रदर्शन किया. यूजीसी ने निर्णय लिया है कि साल में दो कि बजाय सिर्फ़ एक ही यूजीसी नेट की परीक्षा होगी जिस वजह से बहुत से विद्यार्थी आयु बढ़ जाने की वजह से जेआरएफ़ के लिए क्वालिफाई नहीं कर सकेंगे और साथ ही क्वालिफाईंग प्रतिशत को भी 15 फीसदी से कम करके 6 फीसदी करने की ख़बरों से विद्यार्थी ज़्यादा परेशान हैं.

प्रदर्शन कर रहे छात्र सूर्या का कहना है कि "पहले दो बार था अब एक बार कर दिया, शिक्षा में क्या हो रहा है, हमारा एक अटेंप्ट कम हो गया." एक और छात्र अभिषेक का कहना है कि "प्रतियोगिता भी बढ़ जाएगी, हमारे सीनियर्स भी हमारे साथ पेपर देंगे, ऊपर से क्वालिफ़ाईंग प्रतिशत भी कम कर दिया." CBSE की ओर से जुलाई में यूजीसी-नेट जेआरएफ की परीक्षा न कराने का फैसला लिया गया है.

सीबीएसई ने जून में सर्कुलर जारी कर UGC-NET जूनियर रिसर्च फेलोशिप एंड एलिजिबिलिटी फॉर असिस्‍टेंट प्रोफेसर के लिए 19 नवंबर 2017 की तारीख दी है. CBSE का कहना है कि "सीबीएसई जुलाई में परीक्षा नहीं करा रहा है. लेकिन मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय की ओर से कोई आदेश सीबीएसई को आता है तो उसी अनुसार परीक्षा का शेड्यूल होगा. हालांकि अभी यूजीसी नेट के शेड्यूल में कोई तब्‍दीली नहीं की जा रही."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com