Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

दिल्ली में पॉल्यूशन पर बोले केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन- वायु प्रदूषण फैलाने पर होगी अब आपराधिक करवाई

दिल्ली में लगातार बढ़ रहे प्रदूषण के स्तर को देखते हुए शनिवार को केंद्रीय पर्यावरण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने दिल्ली एनसीआर में वायु प्रदूषण की स्थिति की समीक्षा की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली में पॉल्यूशन पर बोले केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन- वायु प्रदूषण फैलाने पर होगी अब आपराधिक करवाई

केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली में लगातार बढ़ रहे प्रदूषण के स्तर को देखते हुए शनिवार को केंद्रीय पर्यावरण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने दिल्ली एनसीआर में वायु प्रदूषण की स्थिति की समीक्षा की. केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड ने बताया है कि विभिन्न सरकारी विभाग प्रदूषण कम करने के लिए ठोस काम नहीं कर रही हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में हवा की लगातार ख़राब होती गुणवत्ता को ठीक करने के लिए सरकार अब सख़्त रूख अपनाते हुए वायु प्रदूषण मानकों का उल्लंघन करने वालों के ख़िलाफ़ आपराधिक मामला दर्ज कर कार्रवाई करेगी. 

इन तिथियों में दिल्ली में होगा सर्वाधिक प्रदूषण, रोकथाम के लिए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दिए सुझाव

उन्होंने चेतावनी के लहजे में कहा कि समीर एप (प्रदूषण का एप) पर अपलोड की गई शिकायत को दूर करने के लिए सरकारी एजेंसियों ने अगर सख्ती से काम नहीं किया तो पहले 48 घंटे की चेतावनी दी जाएगी. फिर भी अगर ठोस प्रयास नहीं किए तो आपराधिक मामला दर्ज करने की कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने बताया कि हवा की गुणवत्ता में अपेक्षित सुधार नहीं होने पर केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के सुझाव पर यह फ़ैसला किया गया है. 


प्रदूषण रोकने की कवायद का नहीं है कोई असर, दिल्ली के इन इलाकों में हवा बेहद जहरीले स्तर पर

सोमवार को इस बाबत सभी विभागों तो बुलाकर पर्यायवरण मंत्रालय उनको इस बारे बताएगा ताकि एक विभाग दूसरे पर जिम्मेदारी डालकर न बैठें. दिल्ली में पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड 15 दिनों के लिए एक सख्त अभियान चलाएगा. 

फिर 'गैस चैंबर' बन रही दिल्ली, इन 5 कारणों से प्रदूषण दिल्लीवालों का दम घोंट रहा है

टिप्पणियां

बैठक में सीपीसीबी के अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली के अलावा एनसीआर के चार शहरों नोएडा, ग़ाज़ियाबाद, फ़रीदाबाद और गुरुग्राम में पिछले एक महीने में स्थिति को सुधारने के लिए किए गए उपाय नाकाफ़ी साबित हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि अब सीपीसीबी के 41 के बजाय 50 निगरानी दल सप्ताह में दो दिन के बजाय कम से कम पांच दिन इन शहरों में औचक निरीक्षण निरीक्षण करेंगे. 

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... दिल्ली हिंसा: आधी रात CM केजरीवाल के घर के बाहर JNU और जामिया के छात्रों ने किया प्रदर्शन, पुलिस ने बरसाई पानी की बौछारें

Advertisement