NDTV Khabar

पानी को लेकर आप विधायकों में तनातनी, कॉलोनी का पानी अस्पताल को देने का आरोप

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पानी को लेकर आप विधायकों में तनातनी, कॉलोनी का पानी अस्पताल को देने का आरोप

आप विधायक प्रकाश जारवाल दिल्ली जल बोर्ड और अपनी ही पार्टी के साथी विधायक दिनेश मोहनिया के खिलाफ सड़क पर उतर आये. फाइल तस्वीर: दिनेश मोहनिया

खास बातें

  1. आप एमएलए प्रकाश जारवाल की मौजूदगी में प्रदर्शकारियों ने दिल्ली जल बोर्ड क
  2. लोगों ने कुछ देर के लिए एमबी रोड पर प्रदर्शन कर जाम भी लगाया.
  3. विधायक का आरोप उनके इलाके का पानी गुपचुप दिया जाने वाला था जामिया हमदर्द
नई दिल्ली:

पानी की सप्लाई को लेकर दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (आप) के दो विधायक आमने-सामने आ गए. शनिवार को आप विधायक प्रकाश जारवाल अपने विधानसभा के पानी की समस्या को लेकर केजरीवाल सरकार के विभाग जल बोर्ड और अपनी ही पार्टी के साथी विधायक दिनेश मोहनिया के खिलाफ सड़क पर उतर आये. विधायक की मौजूदगी में देवली इलाके के लोगों ने दिल्ली जल बोर्ड की रात में बिछाई हुई पानी की पाइप लाइन को जेसीबी से खोदकर निकाल दिया. आरोप है की उनके इलाके के हिस्से का पानी जामिया हमदर्द अस्पताल की तरफ डायवर्ट किया जा रहा था.

विधायक प्रकाश जारवाल का कहना है कि अभी संगम विहार, देवली और अंबेडकरनगर के कुछ इलाके को लगभग 3.5 एमजीडी पानी की सप्लाई की जाती है. इसके बाद भी यहां गर्मियों में पानी की भयंकर किल्लत रहती है. इस डायवर्जन के बाद इस इलाके में लगभग 2.5 एमजीडी ही पानी रह जाएगा, जिससे पानी की किल्लत इलाके में बढ़ेगी. 

टिप्पणियां

प्रदर्शनकारी आकाश बंसल और इमरान ने बताया कि यहां कई दिनों से जल बोर्ड विभाग की तरफ से पानी की लाइन बिछाने का कार्य किया जा रहा था. रात में लोगों ने जेसीबी मशीन से जमीन खोदकर सारे पाइप निकाल डाले और वापस मिट्टी डालकर सब बंद कर दिया. लोगों ने कुछ देर के लिए एमबी रोड पर प्रदर्शन कर जाम भी लगाया.


जिस समय लोगों ने जेसीबी मशीन से पाइप तोड़कर बाहर निकाले उस समय वहां इलाके के आप विधायक और दिल्ली जल बोर्ड के सदस्य प्रकाश जारवाल भी मौजूद थे. एसे में उनका कहना है कि जल बोर्ड ने ये पाइप बिना इजाजत के डाले हैं, जो कि कानूनी रूप से गलत है. साथ ही इसके लिए उन्होंने आला अधिकारियों से बात करने की कोशिश की तो किसी भी जल बोर्ड अधिकारियों ने उनका फोन तक नहीं उठाया. अब एसे में विधायक का कहना है कि मंत्री कपिल मिश्रा को इस बाबत सूचित कर दिया गया है, जिसके बाद अब जल बोर्ड के अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी. सरकारी काम में बाधा डालने वाले लोगों की भी विधायक ने तरफदारी करते हुए उनका साथ दिया. इस मामले में दिनेश मोहनिया से सम्पर्क करने की कोशिश की गई , लेकिन सम्पर्क नही हो सका.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement