नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर दृष्टिहीन दंपती के आखों के 'चिराग' को ले उड़ी महिला

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर दृष्टिहीन दंपती के आखों के 'चिराग' को ले उड़ी महिला

दृष्टिहीन दंपती आशा राम और लक्ष्मी

खास बातें

  • नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नम्बर 4-5 से चिराग का अपहरण
  • अपहरण करने वाली महिला ही थी
  • चिराग की उम्र 3.5 वर्ष है.
नई दिल्ली:

कुदरत की बेहरहमी का शिकार यह परिवार जिसकी दास्तां सुनकर किसी का भी दिल रो उठे. हम बात कर रहे हैं आशा राम और लक्ष्मी की. जिनकी आंखों की रोशनी कुदरत ने पहले ही बुझा दी थी और अब सवा महीने से वे अपने घर के चिराग को ढूंढ़ रहे हैं जिनके सहारे वे जी रहे थे. उनके बच्चे का नाम चिराग है जिसका अपहरण हो गया है. चिराग की उम्र 3.5 वर्ष है.

जानकारी के अनुसार 15 सितम्बर को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नम्बर 4-5 से चिराग का उसका अपहरण कर लिया गया. अपहरण करने वाली महिला ही थी. इस बात का खुलासा पुलिस को CCTV की तस्वीरें देखकर हुआ.
 

(अपहरण किया गया बच्चा ऋतिक)

इस अपहरणकर्ता महिला की तस्वीरें CCTV कैमरे में साफ़ नज़र आ रही हैं. पुलिस ने स्टेशन पर लगे 173 कैमरों की फुटेज को एक एक करके देखा तो 6 कैमरों में उस महिला की तस्वीरें पुलिस के हाथ लगीं.

इन कैमरों से पुलिस ने उस महिला की हर एक हरकत को देखा. महिला ने पहले इन दृष्टिहीन दंपती से मुसाफिर की तरह मेलजोल बढ़ाया और फिर इनके दृष्टिहीन होने का उसने फायदा उठाया और ऋतिक को बहाने से लेकर भाग गई.
 

नई दिल्ली स्टेशन पर बच्चे का अपहरण करने वाली महिला (किन्नर)

जीआरपी ने अपहरण का मामला दर्ज कर लिया है. जीआरपी की 10 टीमें लगातार उसकी तलाश में सवा महीने से दिल्ली और अन्य राज्यों में लगातार दबिश कर रही हैं. पुलिस को शक है कि महिला किन्नर भी हो सकती इसलिए किन्नरों के ठिकाने में भी दबिश दी जा रही है.

पुलिस ने पूरे देश के हर थाने में ऋतिक की गुमशुदगी की सूचना और तस्वीरों के साथ 50 हज़ार के इनाम की भी घोषणा कर दी है. सोशल मीडिया का सहारा भी लिया जा रहा है.

Newsbeep

एक महीने से अधिक का समय निकल गया है लेकिन इस बच्चे की तलाश में जुटी पुलिस के हाथ सफलता नहीं लगी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ऋतिक के पिता ने यह भी कहा है कि उनके बच्चे को जो भी शख्स ले गया है वब कृपया उसे किसी मंदिर, गुरुद्वारे या किसी सुरक्षित जगह पर छोड़ दे. वह कोई कार्यवाही नहीं करेंगे. उन्हें सिर्फ अपना बच्चा चाहिए.