मनीष सिसोदिया बोले- प्राइवेट स्कूलों को बढ़ी हुई फीस 'मर्सिडीज' पर खर्च करने नहीं दूंगा

मनीष सिसोदिया बोले- प्राइवेट स्कूलों को बढ़ी हुई फीस 'मर्सिडीज' पर खर्च करने नहीं दूंगा

मनीष सिसोदिया (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि प्राइवेट स्कूल भले ही फीस वृद्धि पर फैसला ले सकते हों लेकिन उन्हें यह केवल संस्थान के विकास पर खर्च करना चाहिए न कि मर्सिडीज खरीदने पर या फिर 'शिक्षा की अपनी दुकान के साम्राज्य' को बढ़ाने पर।

'..तो मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता आप कितनी फीस लेते हैं'
मनीष सिसोदिया ने कहा- जिन प्राइवेट स्कूलों  की फीस बहुत ज्यादा है, मेरा उन्हें लेकर बस यही कंसर्न है कि जो भी फीस आप स्टूडेंट्स से लेते हैं वह उसी स्कूल पर खर्च होनी चाहिए। तब मुझे कोई दिक्कत नहीं है। अगर आप यह पैसा उसी स्कूल पर खर्च रहे हैं तो मुझे इससे फर्क नहीं पड़ता कि आप कितनी फीस लेते हैं।

'यदि आप बच्चों की फीस बढ़ाते हैं...'
उन्होंने बात आगे बढ़ाते हुए कहा- यदि आप बच्चों की फीस बढ़ाते हैं और अपनी मर्सिडीज कार खरीदते हैं या फिर अपने आलीशान घर बनाते हैं... अलग अलग राज्यों और शहरों में अपना साम्राज्य बढ़ाते हैं.... इन स्टूडेंट्स की क्या गलती है तब? ये सब आय के दूसरे स्रोतों से करिए, लेकिन स्टूडेंट्स की फीस के पैसे से नहीं।

सिसोदिया ने यह बात एक छात्र के सवाल में तब कही जब उनसे प्राइवेट स्कूलों की बढ़ी फीस और सरकारी स्कूलों में शिक्षा के स्तर से संबंधित सवाल किया। यह सवाल उसने BASO नामक एनजीओ द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम के  दौरान किया।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com