यह ख़बर 17 मई, 2014 को प्रकाशित हुई थी

बराक ओबामा ने नरेंद्र मोदी को अमेरिका आने का आमंत्रण दिया

बराक ओबामा ने नरेंद्र मोदी को अमेरिका आने का आमंत्रण दिया

वाशिंगटन/अहमदाबाद:

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने नरेंद्र मोदी को टेलीफोन करके उन्हें लोकसभा चुनावों में शानदार जीत की बधाई दी और उन्हें द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए आपसी सहमति वाले समय पर अमेरिका का दौरा करने का न्योता दिया।

दोनों नेताओं के बीच हुई पहली टेलीफोन वार्ता के बाद व्हाइट हाउस ने कहा, राष्ट्रपति ने नरेंद्र मोदी को हमारे द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने के लिए आपसी सहमति के समय पर वाशिंगटन का दौरा करने के लिए न्योता दिया। उनके बीच बातचीत बहुत संक्षिप्त रही।

विदेश विभाग की प्रवक्ता जेन पास्की ने कहा कि अमेरिका यात्रा के दौरान मोदी ए वन वीजा के लिए योग्य होंगे। उन्होंने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री का अमेरिका में स्वागत है। राष्ट्रप्रमुख होने के नाते वह ए..वन वीजा के योग्य होंगे। अमेरिका गुजरात के दंगों के चलते 2005 से मोदी को वीजा देने से इनकार करता रहा है।

चुनाव परिणाम आने के कुछ घंटो बाद व्हाइट हाउस ने विश्वास जताया कि मोदी सरकार के अंतर्गत भारत-अमेरिका रिश्ते प्रगाढ़ होंगे ।

इससे पहले व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जे कार्नी ने वीजा मुददे के बारे में पूछे जाने पर अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, भारत के प्रधानमंत्री को अमेरिका की यात्रा के लिए वीजा मिलेगा। हमें नई सरकार और नए प्रधानमंत्री के साथ मिलकर काम करने की उम्मीद है। मुझे इस संबंध में कोई समस्या नहीं लगती। कार्नी ने कहा, भारत के प्रधानमंत्री का अमेरिका में स्वागत किया जाएगा। सन् 2005 में अमेरिकी विदेश विभाग ने 2002 में गुजरात दंगों के बाद कथित मानवाधिकार उल्लंघनों के आधार पर अमेरिका में यात्रा के लिए मोदी का वीजा वापस ले लिया था।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अमेरिका बार-बार कहता रहा है कि उसकी मोदी को लेकर वीजा नीति में कोई परिवर्तन नहीं आया है और वह किसी अन्य आवेदनकर्ता की तरह वीजा के लिए आवेदन कर सकते हैं और उसकी समीक्षा का इंतजार कर सकते हैं।

लेकिन जब फरवरी में भारत में उसकी राजदूत नैन्सी पावेल ने अहमदाबाद में मोदी से मुलाकात की तो अमेरिका ने बायकाट की इस नीति में परिवर्तन का संकेत दिया।