NDTV Khabar

राजनाथ भाजपा प्रमुख होते तो गठबंधन बना रहता : उद्धव ठाकरे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राजनाथ भाजपा प्रमुख होते तो गठबंधन बना रहता : उद्धव ठाकरे

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की फाइल फोटो

नई दिल्ली: भाजपा प्रमुख अमित शाह पर परोक्ष हमला बोलते हुए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि उन्होंने राजनाथ सिंह से कहा था कि वे महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव तक भाजपा अध्यक्ष बने रहें और यदि कमान उनके हाथ में रहती तो गठबंधन नहीं टूटता।

ठाकरे ने यह भी कहा कि उन्होंने भाजपा के साथ सीटों के बंटवारे पर चल रही चर्चा के दौरान राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज और पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी से संपर्क किया था और उन्हें स्थिति से अवगत कराया था।

उन्होंने कहा, 'मैंने राजनाथ सिंह से कहा था कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव तक भाजपा अध्यक्ष बने रहें। यदि वह होते तो वह हम लोगों को साथ रखते।' ठाकरे ने एक न्यूज चैनल से कहा, 'मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार नामित करने के लिए भाजपा संसदीय बोर्ड के फैसले से एक दिन पूर्व उन्होंने मुझे यह बताने के लिए फोन किया था कि उनके नाम की घोषणा होगी और उन्होंने हमारा समर्थन मांगा। मैंने इसका समर्थन किया। वह ऐसे व्यक्ति हैं जो चीजों को जोड़कर रख सकते हैं।'

उन्होंने कहा, 'मैंने आडवाणी जी तक को, जो कुछ हो रहा था उसके बारे में बताने के लिए फोन किया और उन्होंने भी यह कहा कि यदि गठबंधन टूटता है तो यह सही नहीं होगा। मैंने उनसे कहा कि यदि गठबंधन टूटता है तो कृपया मुझे माफ कर दें।'

उद्धव ठाकरे ने कहा कि जिस प्रकार शाह ने कोल्हापुर में एक रैली में कहा था कि महाराष्ट्र में अगली सरकार भाजपा की होगी, उससे यह स्पष्ट था कि भाजपा शिवसेना को सहयोगी के रूप में नहीं चाहती।

शिवसेना नेता ने कहा कि पहले भी ऐसा हुआ है कि गठबंधन में तनाव था लेकिन दिवंगत प्रमोद महाजन और गोपीनाथ मुंडे जैसे 'समझदार' नेताओं को पता था कि चीजों को कितना खींचना है। उन्होंने कहा, 'मेरी मंशा कभी भी गठबंधन को तोड़ने की नहीं थी। जब महाजन और मुंडे गठबंधन संबंधी मुद्दों को देख रहे थे तो चीजें अच्छी थीं। जब दिल्ली से नियुक्त किए गए लोग आए और उन्होंने बातचीत शुरू की तो चीजें गलत होती चली गईं।'

ठाकरे ने कहा, 'अमित शाह ने मुझे बताया कि ओम माथुर (भाजपा नेता) को बातचीत के लिए नियुक्त किया गया है। माथुर ने कहा कि हमें संसदीय बोर्ड ने कहा है कि या तो बराबर या कुछ नहीं। मैंने उनसे कहा कि भाजपा संसदीय बोर्ड आपकी सीटों का फैसला कर सकता है, मेरी नहीं।'

नरेन्द्र मोदी सरकार में शिवसेना की ओर से एकमात्र मंत्री अनंत गीते के इस्तीफे के मुद्दे पर ठाकरे ने कहा कि वह प्रधानमंत्री से इस बारे में बात करेंगे।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement