NDTV Khabar

1999 में मैंने और वापजेयी ने जहां छोड़ा था, वहीं से शुरू करना चाहूंगा : एनडीटीवी से नवाज शरीफ

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
1999 में मैंने और वापजेयी ने जहां छोड़ा था, वहीं से शुरू करना चाहूंगा : एनडीटीवी से नवाज शरीफ
नई दिल्ली:

भारत के भावी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथग्रहण समारोह में शामिल होने हिन्दुस्तान पहुंचे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने एनडीटीवी की ग्रुप एडिटर बरखा दत्त से एक एक्सक्लूसिव इंटरव्यू के दौरान कहा कि वह मोदी से मिलने के प्रति बहुत उत्सुक हैं, और इस मुलाकात को ऐसे बेहतरीन मौके के रूप में देखते हैं, जब दोनों मुल्क एक-दूसरे के नज़दीक आ सकते हैं...

साक्षात्कार के मुख्य अंश इस प्रकार हैं...

  • "यह एक बेहतरीन पल है, और बेहतरीन मौका है, जब दोनों मुल्क एक-दूसरे के नज़दीक आ सकते हैं..."
  • "दोनों (देशों की) सरकारों के पास मजबूत जनादेश है, और इससे हमारे संबंधों में नया अध्याय लिखने में मदद मिल सकती है..."
  • "दुनिया के किन्हीं भी दो देशों में इतनी सांस्कृतिक और पारंपरिक समानताएं नहीं हैं, जितनी हिन्दुस्तान और पाकिस्तान के बीच हैं, सो, क्यों न समानताओं को ताकत बनाया जाए..."
  • "मैं (नरेंद्र) मोदी जी से मिलने के लिए बहुत उत्सुक हूं..."
  • "हमें एक-दूसरे के प्रति डर, अविश्वास और संशय की भावना का त्याग करना होगा..."
  • "हमें इस क्षेत्र को दशकों से मौजूद अस्थिरता और असुरक्षा की भावना से अलग करना होगा..."
  • "यह (अटल बिहारी) वाजपेयी जी की की भारतीय जनता पार्टी है, जिनके लिए मेरे दिल में सबसे ज़्यादा सम्मान है..."
  • "मैं वहीं से सूत्रों को पकड़ना चाहूंगा, जहां वर्ष 1999 में मैंने और वाजपेयी जी ने छोड़ा था..."
टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement