एनसीपी ने कांग्रेस पर मढ़ा हार का दोष, विस चुनाव में पार्टी को ज्यादा सीट दिए जाने की वकालत की

एनसीपी ने कांग्रेस पर मढ़ा हार का दोष, विस चुनाव में पार्टी को ज्यादा सीट दिए जाने की वकालत की

फाइल फोटो

मुंबई:

शरद पवार की पार्टी एनसीपी ने कांग्रेस और प्रधानमंत्री पर निशाना साधा है। प्रफुल्ल पटेल ने कहा है कि कांग्रेस ने सहयोगियों को विश्वास में नहीं लिया और प्रधानमंत्री सीन से गायब हो गए। वहीं एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने कहा है कि लोकसभा के प्रदर्शन के आधार पर विधानसभा की सीटें तय हो।
 
पवार ने आज कहा कि उनकी पार्टी को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में और अधिक सीटें मिलनी चाहिए, क्योंकि लोकसभा चुनाव के नतीजों के अनुसार मुख्य सहयोगी कांग्रेस राज्य में कमजोर रही है।

पवार ने कहा, 'पिछली बार जब हमें लोकसभा चुनाव में कांग्रेस से कम सीटें मिलीं थीं, तो उन्होंने कहा था कि उन्हें अधिक सीटें मिलनी चाहिए। इस बार जब हम सीट बंटवारे पर बात करने के लिए बैठें तो हमें यह बात याद रखनी चाहिए।'

यहां पार्टी पदाधिकारियों की बैठक को संबोधित करते हुए पवार ने कहा, 'हमें कांग्रेस के साथ सीट बंटवारे को अंतिम रूप देने में देर नहीं करनी चाहिए और विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।' उन्होंने कहा, 'सीट बंटवारे को अंतिम रूप देते समय हमें याद रखना चाहिए कि हमें अधिक सीटें मिली हैं। हमारी स्थिति में सुधार हुआ है।'

गौरतलब है कि 2009 के विधानसभा चुनाव में एनसीपी ने 114 और कांग्रेस ने 174 सीटों पर चुनाव लड़ा था। मौजूदा लोकसभा चुनाव में एनसीपी ने चार सीटें जीती है, वहीं कांग्रेस को केवल दो सीटें मिली हैं।

पवार ने कहा कि खाद्य सुरक्षा कानून जैसे फैसलों के बावजूद हमें सफलता नहीं मिली। महाराष्ट्र में इस योजना को लागू करने में सात महीने की देरी हुई। उन्होंने कहा कि पार्टी नेताओं को 15 जून के बाद जिलों में जाकर रैलियां करनी चाहिए और समाज के अनेक वर्ग के लोगों से मिलना चाहिए।

पवार के मुताबिक, हमें कुछ दीर्घकालिक कदम उठाने होंगे। हमें बाबासाहब आंबेडकर की 125वीं जयंती मनाने के लिए योजना बनानी चाहिए।

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com