NDTV Khabar

ब्रह्मपुत्र नदी से काली, शिव, कृष्‍ण, ब्रह्मा और लक्ष्‍मी-गणेश समेत 42 मूर्तियां बरामद, पुलिस कर रही हैं जांच

ब्रह्मापुत्र नदी के नी में डुबकी लगाने पर उसे भगवान शिव की मूर्ति मिली और उसे इसे चोरी किए जाने का संदेह हुआ जिसके बाद उसने पुलिस को सूचना दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ब्रह्मपुत्र नदी से काली, शिव, कृष्‍ण, ब्रह्मा और लक्ष्‍मी-गणेश समेत 42 मूर्तियां बरामद, पुलिस कर रही हैं जांच

ब्रह्मापुत्र नदी से 42 मूर्तियां व पूजा का अन्‍य सामाना बरामद किया गया (प्रतीकात्‍मक फोटो)

गुवाहाटी:

गुवाहाटी में ब्रह्मपुत्र नदी से पूजा में इस्तेमाल किए जाने वाले कुल 42 चीजें और धातु की मूर्तियां बाहर निकाली गईं. पुलिस के शीर्ष अधिकारियों ने बताया कि शनिवार को उमानंदा घाट के समीप नदी से देवियों और देवताओं की मूर्तियां, दीपक, शंख निकाले गए जबकि रविवार को लोहे की एक प्रतिमा निकाली गई.

यह भी पढ़ें: अमेरिका-ब्रिटेन की टीम को मिलीं 2,000 साल पुरानी मूर्ति, भारत से सालों पहले हुईं थी चोरी

लतासिल थाने के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य आपदा मोचन बल के कर्मी पानी के अंदर तलाश अभियान में लगे हुए हैं. गुवाहाटी के पुलिस आयुक्त दीपक कुमार ने संवाददाताओं को बताया कि इस बात की जांच चल रही है कि ये सामान ब्रह्मपुत्र नदी में कैसे आए और क्या इन्हें मंदिरों से चुराया गया था. उन्होंने बताया कि मंदिरों में चोरी के मामलों पर भी जांच की जा रही है. उन्होंने बताया कि इनमें से दो सामान मंदिर के हैं और इसकी पहचान कर ली गई है.

पूजा के सामान का पता शनिवार को सुबह संयोगवश चला जब घाट के समीप चाय के एक स्टॉल का कर्मचारी नदी में नहा रहा था. सानू अली नाम के व्यक्ति ने बताया कि वह नदी के किनारे नहा रहा था तब उसे पैर में चोट लगी जो पानी के अंदर किसी नुकीली वस्तु के कारण आई.


टिप्पणियां

पानी में डुबकी लगाने पर उसे भगवान शिव की मूर्ति मिली और उसे इसे चोरी किए जाने का संदेह हुआ जिसके बाद उसने पुलिस को सूचना दी. पुलिस कर्मियों ने उसे तथा दो स्थानीय लोगों को पानी के भीतर तलाशी अभियान चलाने के लिए कहा.

तीनों व्यक्तियों ने काली, शिव, कृष्ण, ब्रह्मा, तारा देवी, बुद्ध, गणेश, लक्ष्मी, राधा-कृष्ण की मूर्तियां निकालीं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement