लॉकडाउन के बीच 5 श्रद्धालुओं ने निकाली पंचमुखी डोली यात्रा, 10 फीट बर्फ में चल कर पहुंचे केदारनाथ

देशभर में चल रहे लॉकडाउन के कारण इस यात्रा में कोई भी तीर्थयात्री शामिल नहीं हुआ. यह यात्रा, चार धाम तीर्थ यात्रा का एक हिस्सा है और आमतौर पर हर साल 1,000 से अधिक तीर्थयात्रियों के साथ सेना की कुमाओ बटालियन इसका नेतृत्व करती है.

लॉकडाउन के बीच 5 श्रद्धालुओं ने निकाली पंचमुखी डोली यात्रा, 10 फीट बर्फ में चल कर पहुंचे केदारनाथ

29 अप्रैल को केदारनाथ मंदिर के कपाट खोले जाएंगे.

नई दिल्ली:

उत्तराखंड में स्थित केदारनाथ मंदिर (Kedarnanth Mandir) के कपाट 29 अप्रैल को खुलने के लिए तैयार हैं. इसी बीच 27 अप्रैल को वार्षिक पंचमुखी डोली यात्रा निकाली गई लेकिन इस बार देशभर में चल रहे लॉकडाउन के कारण इस यात्रा में कोई भी तीर्थयात्री शामिल नहीं हुआ. यह यात्रा, चार धाम तीर्थ यात्रा का एक हिस्सा है और आमतौर पर हर साल 1,000 से अधिक तीर्थयात्रियों के साथ सेना की कुमाओ बटालियन इसका नेतृत्व करती है.

हालांकि, इस बार केदारनाथ मंदिर से केवल पांच लोगों द्वारा ही इस यात्रा को संपन्न किया गया. उत्तराखंड में स्थित गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ और बदरीनाथ को चार धाम के नाम से जाना जाता है और हर साल इन मंदिरों के कपाट खोले जाने के वक्त हजारों श्रद्धालु यहां पहुंचते हैं लेकिन इस बार 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ाए जाने के कारण इस यात्रा में कोई भी श्रद्धालु शामिल नहीं हो पाया है. 

9ahp1sj8

इस वजह से केदारनाथ के 5 भक्तों ने सोमवार को भगवान पंचमुखी की मूर्ति के साथ एक पालकी निकाली. यह सभी श्रद्धालु 10 फीट बर्फ पर पैदल यात्रा करते हुए केदारनाथ पहुंचे. वार्षिक चार धाम यात्रा की शुरुआत शनिवार को गढ़वाल के हिमाल्य में स्थित गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट खुलने के साथ होगी. बाबा केदार (भगवान शिव) की उत्सव डोली भी रविवार को ऊखीमठ के ओंकारेश्वर मंदिर से रविवार को केदारनाथ के लिए रवाना होगी. 

सतपाल महाराज ने इस बारे में पीटीआई से बात करते हुए कहा, ''फिलहाल हमारी प्राथमिकता धार्मिक मान्यताओं और उनसे जुड़ी परंपराओं के अनुसार मंदिर के पोर्टल खोलने की है. इसके अलावा बाकी के सभी फैसले केंद्र सरकार के निर्देशों के अनुसार किए जाएंगे.''
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com