COVID-19: श्रद्धालुओं के बिना जगन्नाथ रथयात्रा निकालने का सुझाव, समिति ने की लाइव प्रसारण की सिफारिश

देव ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिये हुई बैठक के बाद पत्रकारों से कहा कि कि हमने पुरी में ग्रांड रोड पर 12वीं सदी के मंदिर के सामने श्रद्धालुओं की उपस्थिति के बिना रथयात्रा निकालने का सुझाव दिया हैय इस पर अंतिम फैसला राज्य सरकार को करना है. 

COVID-19: श्रद्धालुओं के बिना जगन्नाथ रथयात्रा निकालने का सुझाव, समिति ने की लाइव प्रसारण की सिफारिश

कोरोनावायरस के मद्देनजर रखा गया बिना श्रद्धालुओं के रथयात्रा निकालने का सुझाव.

भुवनेश्वर:

श्री जगन्नाथ मंदिर प्रबंधन समिति (एसजेटीएमसी) ने ओडिशा सरकार को कोरोनावायरस महामारी के मद्देनजर श्रद्धालुओं के बिना पुरी में वार्षिक भगवान जगन्नाथ रथयात्रा निकालने का सुझाव दिया है. रथयात्रा पुरी में 23 जून को प्रस्तावित है. ओडिशा सरकार ने समिति की सिफारिश को ध्यान में रखते हुए भारतीय रेलवे को पुरी के लिए ट्रेनें नहीं चलाने को कहा है. 

पारंपरिक रूप से भगवान के प्रधान सेवक माने जाने वाले गजपति महाराज दिव्यसिंह देव की अध्यक्षता में शनिवार को हुई समिति की बैठक में इस संबंध में फैसला लिया गया. समिति ने सिफारिश की है कि राज्य सरकार इस वार्षिक महोत्सव के सीधे प्रसारण का प्रबंध करे ताकि दुनियाभर के लाखों श्रद्धालु टीवी पर इसे देख सकें. 

देव ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिये हुई बैठक के बाद पत्रकारों से कहा कि कि हमने पुरी में ग्रांड रोड पर 12वीं सदी के मंदिर के सामने श्रद्धालुओं की उपस्थिति के बिना रथयात्रा निकालने का सुझाव दिया हैय इस पर अंतिम फैसला राज्य सरकार को करना है. 

वहीं पूर्वी तटीय रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि ओडिशा सरकार की ओर से मिली सलाह के आधार पर हमने भुवनेश्वर से पुरी को जाने वाली ट्रेनें नहीं चलाने का फैसला लिया है. अधिकारी ने कहा कि एक जून से शुरू हो रही पुरुषोत्तम एक्सप्रेस पुरी की जगह भुवनेश्वर से शुरू होगी. सियालदाह-पुरी दुरंतो एक्सप्रेस भी भुवनेश्वर से चलेगी. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com