NDTV Khabar

बांकेबिहारी मंदिर के सेवायत अब नहीं कर सकेंगे मनमानी

2 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बांकेबिहारी मंदिर के सेवायत अब नहीं कर सकेंगे मनमानी
मथुरा: मंदिर के प्रबंधक मुनीश शर्मा एवं उमेश सारस्वत ने मंदिर के रिसीवर न्यायाधीश इंद्रजीत सिंह द्वारा पारित आदेश की जानकारी देते हुए बताया, ‘मंदिर के रिसीवर अक्सर व्यवस्थाओं का जायजा लेने मंदिर आते रहते हैं. इस बीच उन्होंने श्रद्घालुओं को होने वाली जो परेशानियां खुद की महसूस कीं और मंदिर प्रबंधन के माध्यम से दर्शनार्थियों की जो शिकायतें उन्हें प्राप्त हुईं, उनमें कई दुश्वारियां मंदिर के सेवायत पुजारियों द्वारा भी उत्पन्न की जा रही थीं.’

चैत्र नवरात्र 2017: जानें, लौकिक मान्यताओं के अनुसार नवरात्रि में क्या करें और क्या नहीं
 
प्रबंधकों ने बताया, ‘मंदिर के सेवायत अपने निजी स्वार्थों की पूर्ति के लिए कई बार मंदिर के गर्भगृह के सामने जगमोहन में अपने सेवादारों को खड़ाकर श्रद्घालुओं के भोग प्रसाद अर्पित करवाते हैं. इस प्रकार जगमोहन का अधिकाधिक स्थान वे घेर लेते हैं तो अन्य दर्शनार्थियों को दर्शन करने में बेहद असुविधा का सामना करना पड़ता है.’

चैत्र नवरात्र 28 मार्च से, जानिए किस दिन होगी किस देवी की आराधना और घटस्थापना मुहूर्त
 
उन्होंने बताया, ‘रिसीवर ने जगमोहन में एक वक्त में तीन से अधिक सेवादारों की उपस्थिति पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. आदेश के अनुसार यदि ऐसा होता है तो ऐसे मामले में कड़ी कार्रवाई की जाएगी. इसी प्रकार, मंदिर के अंदर और चबूतरे पर अतिक्रमण करने वाले सेवायतों को भी पंद्रह दिन का समय देकर सभी प्रकार के अतिक्रमण हटाने को कहा गया है.’

आस्था सेक्शन से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement