NDTV Khabar

किस देवता को समर्पित है बुधवार का दिन, लोग क्यों रखते हैं इस दिन व्रत और इससे जुड़ी मान्यताएं...

इस दिन बुध ग्रह का पूजन किया जाता है. बुधवार के दिन श्री गणेश की भी पूजा का प्रावधान है. साथ ही, बुध ग्रह की पूजा भी बुधवार को की जाती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
किस देवता को समर्पित है बुधवार का दिन, लोग क्यों रखते हैं इस दिन व्रत और इससे जुड़ी मान्यताएं...
हिंदू धर्म में सप्ताह के हर दिन को किसी न किसी देवता के नाम किया गया है. इसी क्रम में आज का दिन यानी बुधवार बुध ग्रह के नाम है. इस दिन बुध ग्रह का पूजन किया जाता है. बुधवार के दिन श्री गणेश की भी पूजा का प्रावधान है. साथ ही, बुध ग्रह की पूजा भी बुधवार को की जाती है. कहते हैं कि कुंडली में बुध  ग्रह के अशुभ स्थिति में होने पर बुधवार को गणेश का पूजन करना लाभदायक होता है. हिंदू मान्यता के अनुसार अगर घर में धन नहीं रुकता, बेवजह धन व्यर्थ होता है, घर में क्लेश मचा रहता है, तो यह सब बुधवार को व्रत या पूजन से दूर किया जा सकता है. मान्यता है कि यह व्रत बुध ग्रह का अशुभ प्रभाव दूर करता है. 


मान्यताएं
  • मान्यता है कि बुधवार का व्रत अंधेर यानी कृष्ण पक्ष की बजाए चांदन यानी शुक्ल पक्ष में रखने की शुरुआत करनी चाहिए. 

  • यह व्रत किसी भी माह के शुक्ल पक्ष के पहले बुधवार से करना शुभ माना जाता है.

  • कहते हैं कि बुधवार का व्रत कम से कम 21 बुधवारों तक और ज्यादा से ज्यादा 41 बुधवारों तक करने से अच्छा फल देता है.

  • अन्य व्रतों की तरह इस व्रत में भी नमक पूरी तरह से मना होता है.

  • हिंदू धर्म में हर देवता का कुछ न कुछ प्रिय आहार होता ही है. ठीक इसी तरह मान्यता है कि बुधवार को खाने में मूंग की दाल की पंजीरी या हलवा भोग लगाने से वे जल्दी खुश होते हैं.

  • इस व्रत में दान को विशेष महत्व दिया जाता है. माना जाता है कि बुधवार का व्रत रखने के दौरान दान के बाद ही भोजन ग्रहण करना चाहिए. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement