NDTV Khabar

छठ पूजा का आखिरी अर्घ्य सुबह 14 नवंबर को, जानिए छठी मइया को अर्घ्य देने का शुभ मुहूर्त

Chhath Puja 2018: घटवा पर आजन बाजन बाजा बाजा बाजी बहू, कांच ही बांस के बहंगिया बहंगी लचकत जाये और ऊ जे मरबो रे सुगवा धनुष से सुगा गिरे मुरछाय जैसे भोजपुरी गानों के साथ झूमते हुए दिया जाता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
छठ पूजा का आखिरी अर्घ्य सुबह 14 नवंबर को, जानिए छठी मइया को अर्घ्य देने का शुभ मुहूर्त

छठी मइया को अर्घ्य देने का आखिरी शुभ मुहूर्त

नई दिल्ली:

Chhath Puja 2018: छठी मइया (Chhathi Maiya) को ऊषा अर्घ्य या भोरवा घाट या फिर बिहनिया अर्घ्य 14 नवंबर सुबह घाट, तालाब या फिर नदी किनारे पर दिया जाएगा. छठ पूजा का ये दूसरा और आखिरी अर्घ्य होगा. इसके साथ साल 2018 के छठ पर्व (Chhath Parv) का समापन हो जाएगा. इस अर्घ्य के बाद छठी मइया (Chhathi Maiya) के लिए बनाए गए खास ठेकुए और प्रसाद को लोगों में बांटा जाएगा. छठ पर्व के आखिरी दिन भक्त प्रसिद्ध छठी मइया के गीत गाते हुए घाट पर पहुंचते हैं. वहीं, आजकल भोजपुरी गानों का ट्रेंड (Latest Bhojpuri Song) है. घाट पर ही फेमस भोजुपरी स्टार्स (Bhojpuri Stars) जैसे पवन सिंह (Pawan Singh), अंजली भारद्वाज (Anjali Bhardwaj), खेसारी लाल यादव (Khesari Lal Yadav), काजल राघवानी (Kajal Raghwani) और रंजना सिंघ (Ranjana Singh) के इन्हीं भोजपुरी छठ गानों (Bhojpuri Chhath Songs) की धुन हर जगह सुनाई देती है. 

इनके प्रसिद्ध गाने जैसे छठी माई (Chhathi) के घटवा पर आजन बाजन बाजा बाजा बाजी बहू, कांच ही बांस के बहंगिया बहंगी लचकत जाये और ऊ जे मरबो रे सुगवा धनुष से सुगा गिरे मुरछाय जैसे भोजपुरी गाने (Bhojpuri Gaane) गाए और बजाए जाते हैं. इन्हीं गानों के साथ झूमते हुए हंसी-खुशी छठी मइया को अर्घ्य देकर संतान प्राप्ति और उनके अच्छे भविष्य की कामना की जाती है. 


बता दें, हर साल दिपावली (Deepavali) के छठे दिन यानी कार्तिक शुक्ल की षष्ठी को छठ पर्व (Chhath Parv) मनाया जाता है. छठी मइया की पूजा (Chhathi Maiya Ki Puja) की शुरुआत चतुर्थी को नहाए-खाय से होती है. इसके अगले दिन खरना या लोहंडा (इसमें प्रसाद में गन्ने के रस से बनी खीर दी जाती है). षष्ठी (13 नवंबर) को शाम और सप्तमी (14 नवंबर) सुबह को सूर्य देव को अर्घ्य देकर छठ पूजा की समाप्ति की जाती है. इस बार छठ पूजा 11 से 14 नवंबर तक है. यहां जानिए 14 नवंबर को दूसरा और आखिरी अर्घ्य किस समय दिया जाएगा.

सूर्य उगने का समय (दूसरा अर्घ्य)
14 नवंबर सूर्य उगने का समय - सुबह 06:39

टिप्पणियां

वहीं, साल 2019 में 2 नवंबर को छठ पूजा मनाई जाएगी.

छठ पर्व से जुड़ी बाकी खबरें
छठ पूजा 2018: Chhath Puja पर इन मैसेजेस की रहती है धूम, छठी मइया को इन WhatsApp Status से करें याद
Chhath Puja 2018: जानिए छठ पूजा की विधि, सामग्री, छठ कथा और महत्‍व
Bhojpuri Chhath Songs 2018: छठ पूजा पर छठी मइया के भक्त सुनते हैं ये ब्लॉकबस्टर भोजपुरी भजन, ऐसे मनता है जश्न
छठी मइया का आज शाम पहला अर्घ्य, जानिए सूर्य ढलने का शुभ मुहूर्त
Chhath Puja 2018: कौन हैं छठी मइया, क्या है छठ पूजा में अर्घ्य देने का वैज्ञानिक महत्व?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement