Eid al-Adha 2020: जम्मू-कश्मीर में 1 और 2 अगस्त को होगी ईद-उल-अजहा की छुट्टी, जानिए डिटेल

Eid al-Adha 2020 Holiday in Jammu and Kashmir: ईद-उल-अजहा के खास मौके पर जम्मू और कश्मीर में 1 अगस्त और 2 अगस्त को ईद की छुट्टी रहेगी.

Eid al-Adha 2020:  जम्मू-कश्मीर में 1 और 2 अगस्त को होगी ईद-उल-अजहा की छुट्टी, जानिए डिटेल

जम्मू-कश्मीर में 1 और 2 अगस्त को ईद-उल-अजहा की छुट्टी रहेगी.

Eid al-Adha 2020 Holiday in Jammu and Kashmir: ईद-उल-अजहा के खास मौके पर जम्मू और कश्मीर में 1 अगस्त और 2 अगस्त को ईद की छुट्टी रहेगी. पहले ईद की छुट्टी 31 जुलाई और 1 अगस्त को प्रस्तावित की गई थी, लेकिन अब ईद-उल-अजहा का त्योहार 1 अगस्त को मनाए जाने के चलते जम्मू और कश्मीर में ईद की छुट्टी 1 और 2 अगस्त को रहेगी. केंद्र शासित प्रदेश के जनरल एडमिनिस्ट्रेशन डिपार्टमेंट (GAD) ने इस बारे में जानकारी दी. बता दें कि ईद-उल-फित्र के अलावा ईद-उल-अजहा (Eid-ul-Adha 2020) इस्लाम धर्म का दूसरा सबसे बड़ा त्योहार है. ईद-उल-अजहा बकरीद (Bakrid) को कहते हैं, जिस पर कुर्बानी की जाती है. इस साल बकरीद का त्योहार देशभर में 1 अगस्त को मनाया जाएगा. जम्मू कश्मीर सरकार ने ईद के मद्देजनर सभी सरकारी कार्यालयों और शैक्षिक संस्थानों में 1 और 2 अगस्त की छुट्टी की घोषणा कर दी है. 

GAD की नोटिफिकेशन में कहा गया, साल 2019 दिनांक 27.12.2019 को जारी हुए सरकारी आदेश संख्या 251-जेके (जीएडी) में थोड़ा बदलाव किया गया है. जम्मू और कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश के सरकारी कार्यालयों और शैक्षिक संस्थानों में ईद-उल-अजहा की छुट्टी 31 जुलाई और 1 अगस्त (शुक्रवार और शनिवार) के बजाए अब 1 अगस्त और 2 अगस्त (शनिवार और रविवार)  को रहेगी. GAD के अनुसार, पहले ईद के लिए 31 जुलाई को दी गई छुट्टी अब कैंसिल कर दी गई है.

Newsbeep

Eid ul-Adha Mubarak 2020: इस्लाम में बकरीद का है खास महत्व, जानिए किन लोगों पर वाजिब है कुर्बानी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ईद-उल-अजहा  का महत्व
ईद-उल-अजहा बकरीद (Bakrid) को कहते हैं, जिस पर कुर्बानी की जाती है. ईद-उल-फित्र की तरह ही बकरीद का त्योहार भी तीन दिनों तक बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है और तीन दिन तक कुर्बानी का सिलसिला चलता है. ईद-उल-अजहा का त्योहार ईद की नमाज़ के साथ शुरू होता है, सभी मुस्लिम पुरुष मस्जिदों या ईद गाह में ईद की नमाज़ अदा करते हैं. ईद की नमाज़ के बाद कुर्बानी का सिलसिला शुरू होता है. हालांकि, इस साल कोरोनावायरस के चलते लोगों को अपने घरों में ही ईद की नमाज़ अदा करनी होगी.