NDTV Khabar

कैलाश मानसरोवर यात्रियों का पहला जत्था उत्तराखंड के मिर्थी ITBP कैंप पहुंचा

कैलाश मानसरोवर यात्रियों का पहला जत्था आइटीबीपी की 7वीं वाहिनी मिर्थी, उत्तराखंड पहुंचा जहां उनका भव्य स्वागत किया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कैलाश मानसरोवर यात्रियों का पहला जत्था उत्तराखंड के मिर्थी ITBP कैंप पहुंचा

कैलाश मानसरोवर यात्रियों का पहला जत्था उत्तराखंड के मिर्थी ITBP कैंप पहुंचा.

नई दिल्ली:

कैलाश मानसरोवर यात्रियों का पहला जत्था आइटीबीपी की 7वीं वाहिनी मिर्थी, उत्तराखंड पहुंचा जहां उनका भव्य स्वागत किया गया. इस दल को विदेश मंत्री एस जयशंकर ने 11 जून 2019 को नई दिल्ली से रवाना किया था. 58 सदस्यीय इस पहले दल का आईटीबीपी ने परंपरागत छोलिया डांस और उत्तराखंड की परंपरा के अनुसार स्वागत किया. आइटीबीपी कैलाश मानसरोवर यात्रियों के लिए सुरक्षा संचार और चिकित्सा की सुविधा उपलब्ध करवाती है और भारतीय क्षेत्र में यात्रियों की सुगम यात्रा की हर संभव प्रयास करती है.


टिप्पणियां

इस वर्ष नाथूला मार्ग से 10 और लिपुलेख मार्ग से कुल 18 यात्री दलों के जाने का कार्यक्रम प्रस्तावित है. नाथूला मार्ग से प्रत्येक बैच में 50 यात्री और परंपरागत लिपुलेख मार्ग से प्रत्येक मैच में 60 यात्रियों को ले जाया जाएगा. वर्ष 1981 में प्रारंभ हुए कैलाश मानसरोवर यात्रा में प्रारंभ से ही आईटीबीपी ने केंद्रीय भूमिका निभाई है.

कैलाश मानसरोवर तिब्बत में कैलाश माउंटेन रेंज में 21,778 फीट की ऊंचाई पर स्थित है. हिंदू इसे भगवान शिव का निवास स्थान मानते हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement