NDTV Khabar

Guru Nanak Jayanti: अमेरिका में धूमधाम से मनाया गया गुरु पर्व, सांसद ने कहा, गुरु नानक देव के सिद्धांत आज भी प्रासंगिक

अमेरिकी सांसद जूडी चू ने कहा कि गुरु नानक देव का जीवन "हम सभी के लिए सच्ची मिसाल है. उन्होंने महिलाओं को समानता देने की सीख दी."

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Guru Nanak Jayanti: अमेरिका में धूमधाम से मनाया गया गुरु पर्व, सांसद ने कहा, गुरु नानक देव के सिद्धांत आज भी प्रासंगिक

Guru Nanak Birth Anniversary: गुरु नानक देव के जन्‍मदिन पर दुनिया भर में प्रकाश पर्व मनाया जाता है

नई दिल्‍ली:

Guru Nanak Birth Anniversary: अमेरिका के शक्तिशाली सांसदों और प्रतिष्ठित भारतीय-अमेरिकियों ने सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव (Guru Nanak Dev) के 550वें प्रकाश पर्व (Guru Parv) का जश्न मनाया और कहा कि उनके सिद्धांत आज के वक्त में और भी प्रासंगिक हैं. इंडियाना से रिपब्लिक पार्टी के सांसद टोड यंग ने इस मौके पर सदन में एक प्रस्ताव पेश किया. उन्होंने कहा कि सिख-अमेरिकी देशभर में गहरा असर छोड़ने में कामयाब रहे हैं क्योंकि उन्होंने पहले सिख गुरु की शिक्षाओं का अनुसरण किया. गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व का जश्न मनाने के लिए भारतीय दूतावास द्वारा कैपिटोल हिल में आयोजित एक कार्यक्रम में यंग ने कहा कि उनके पड़ोसी इलाके में बड़ी संख्या में सिख अमेरिकी परिवार हैं.

यह भी पढ़ें: जानिए गुरु नानक जयंती के बारे में सबकुछ 


उन्होंने कहा, "मुझे इसकी भी खुशी है कि समानता और समावेश के प्रति आपकी प्रतिबद्धता से यह ऐतिहासिक समझौता हुआ जिससे गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर सिखों के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा पर गलियारा खोला गया."

सांसद जूडी चू ने कहा कि गुरु नानक देव का जीवन "हम सभी के लिए सच्ची मिसाल है. उन्होंने महिलाओं को समानता देने की सीख दी."

इंडियाना से रिपब्लिक पार्टी के सांसद ग्रेग पेंस ने सदन में कहा, "इंडियाना 10,000 से अधिक सिखों का घर है जो हमारे समुदायों को समृद्ध कर रहे हैं और देशवासी मूल्यों के अर्थ को मूर्त रूप दे रहे हैं. देश के सिख इंडियाना में तेजी से बढ़ रहे औद्योगिक समुदायों में से एक हैं और हमारी अर्थव्यवस्था तथा सांस्कृतिक मूल्यों में योगदान दे रहे हैं."

न्यूजर्सी के अटॉर्नी जनरल गुरबीर सिंह ग्रेवाल ने कहा कि सिख धर्म के बारे में जागरुकता लाने की आज कहीं अधिक जरूरत है. हमें यह भी बताना होगा कि धर्म की सीखें आज के आधुनिक दौर में कितनी प्रासंगिक बनी हुई हैं.

टिप्पणियां

अमेरिका में भारत के राजदूत हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच करतारपुर गलियारा खोला जाना एक ऐतिहासिक अवसर है. उन्होंने बताया कि भारत सरकार ने गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व को मनाने के लिए कई कदम उठाए हैं.

उन्होंने कहा, "जाहिर तौर पर हम काफी खुश हैं कि इस खास मौके पर हम कैपिटोल हिल में महत्वपूर्ण कार्यक्रम कर रहे हैं जिसमें न केवल सिख धर्म और इतिहास पर चर्चा पर की गई बल्कि सिख अमेरिकी समुदाय का आपके देश में अनुपातहीन योगदान है."



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... 'मलंग' का नया सॉन्ग Humraah हुआ रिलीज, रोमांटिक अंदाज में नजर आई दिशा और आदित्य की जोड़ी...देखें Video

Advertisement